6 फीट 5 इंच का है दुनिया का सबसे ऊंचा बैल, 1400 किलो वजन के साथ देता है सबको मात

Get Daily Updates In Email

हमारे देश में गाय की पूजा होती है और हमारे यहां गाय को मां के समान माना जाता है. आमतौर पर भारत में गाय की ऊंचाई 4 फिट से लेकर 6 फिट तक होती है. लेकिन अभी कुछ दिन पहले एक 6 फिट 3 इंच की ऑस्ट्रेलिया वाली गाय की काफी चर्चा हो रही थी. दरअसल लोग इस गाय को सबसे ऊंची गाय बता रहे थे और इसके साथ फोटो भी खींच रहे थे. वहीं अब एक ऐसे बैल की सोशल मीडिया पर चर्चा जारी है जो इस गाय से भी ज्यादा ऊंचा है, जी हां अगर इन खबरों को सही माना जाए तो इस बैल की ऊंचाई 6 फिट 5 इंच है.

Gepostet von Kismet Creek Farm am Donnerstag, 29. November 2018

हमारे देश में बैल शुरू से खेती किसानी में काम आते हैं बैल को खास तौर पर बैलगाड़ी में इस्तेमाल किया जाता है. हालांकि दिनों-दिन बैलगाड़ी का चलन कम होने लगा है तो बैल का भी कोई खास महत्व नहीं रहा है. लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में आज भी बैलगाड़ी आपको देखने को मिल जाएगी. ऐसे में हम आपको बताने वाले हैं दुनिया के सबसे ऊंचे बैल के बारे में-

One of the most frequent questions we keep getting is "Just how tall is Dozer, anyway?" The media started calling us and…

Gepostet von Kismet Creek Farm am Donnerstag, 29. November 2018

यहां हम बात कर रहे हैं. कनाडा के डोजर बैल की. इस बैल की हाईट दो साल पहले 6 फिट 3 इंच थी. लेकिन वर्तमान समय में इस बैल की हाईट 6 फिट 5 इंच हो गई है. kismet creek farm नाम के एक फेसबुक पेज पर इसकी कहानी और तस्वीर शेयर की गई है. इस बैल को देखने के लिए दुनियाभर के लोग आ रहे हैं.

वैसे अगर बात की जाए दुनिया के सबसे ऊंचे बैलों की तो इनमें ऑस्ट्रेलिया के बैल निकर्स का नाम सबसे आगे आता है. बताया जाता है कि ये एक स्टीयर (घरेलू बैल) होते हैं जो कि बधिया किए हुए नर बैल होते हैं. जबकि अगर हम बात करें इस बैल के वजन की तो इसकी ऊंचाई स्टीयर के लगभग ही देखने को मिली है. वहीँ इस बैल का वजन सुनकर भी आप चौक जाएंगे. दरअसल इस बैल का वजन क़रीब 1400 किलो है और ऊंचाई 6.4 फ़ीट है.

इस बैल को लेकर ऐसा कहा जा रहा है कि यह मवेशियों की बड़ी तादाद वाले ऑस्ट्रेलिया के सबसे ऊंचे बैलों में से एक हैं. एक बार इस बैल के मालिक ज्योफ़ पियर्सन ने नीलामी की कोशिश की तो बूचड़खाने वालों ने कहा कि वो उसे संभाल नहीं सकेंगे. इस तरह से यह बैल मौत के मुहं में जाने से बच गया था. फ़िलहाल यह बैल पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में पर्थ से 136 किलोमीटर दक्षिण में स्थित लेक प्रीस्टन फीडलॉट में रह रहा है.

Published by Lakhan Sen on 03 Dec 2018

Related Articles

Latest Articles