फिल्में चाहे कैसी भी हो, बॉलीवुड के इन 10 किरदारों को पर्दे पर हमेशा दिखाया जाता है एक जैसा

Get Daily Updates In Email

भारतीय सिनेमा कई दशकों से लोगों का मनोरंजन करता आ रहा है. भारतीय सिनेमा के शुरुआत से लेकर अभी तक लाखों फिल्मों का निर्माण हो चुका है. लेकिन बॉलीवुड की फिल्मों में दिखाए जाने वाले कुछ किरदार आज भी नहीं बदले हैं. खास बात तो यह है कि फिल्मों में इन किरदार को हमेशा एक ही तरीके से पर्दे पर कई सालों से दिखाया जा रहा है. तो चलिए आज इस खबर में हम आपको बताने वाले हैं  बॉलीवुड फ़िल्मों की कुछ स्टीरियोटाइप बातें जो आज से नहीं बल्कि सालों से एक जैसी चली आ रही हैं. और इनसे कई दर्शक परेशान तक हो चुके हैं.

फिल्मों के हीरो

courtesy

बॉलीवुड की कोई सी भी फिल्म क्यों न हो हीरो सभी फिल्मों में हीरोइन को छेड़ने वाले 10 गुंडों को एक साथ मार सकता है. इसके अलावा ज्यादातर फिल्मों में देखने को मिलता है कि हीरोइन को पाने के लिए हीरो कुछ साल में ही अमीर बन जाता है. अगर फिल्म का हीरो गरीब घर से होगा तो उसे अमीर घर की लड़की से प्यार होगा और अमीर घर का हीरो होगा तो उसे गरीब घर की लड़की से प्यार होता है. हीरो को लेकर एक खास बात तो और हम आपको बताना भूल गए. दरअसल फिल्म में हीरो साइकिल से लेकर हवाई जहाज़ तक चलाने वाले होते हैं.

फ़िल्मों की हीरोइन

courtesy

हिरोइन अमीर होगी तो छोटे कपड़े पहनेगी और गरीब घर के लड़के से प्यार करेगी. अगर हीरोइन गरीब घर से होगी तो सूट पहनेगी और अमीर घर के लड़के से प्यार करेगी. इन सबके अलावा एक बात और ज्यादातर फिल्मों में हीरोइन की देखने को मिलती है. वह है कि हीरोइन हीरो से आसानी से इम्प्रेस नहीं होती है.

फ़िल्मों में हीरो और हीरोइन का बाप

courtesy

अगर अमीर घर का हीरो होगा तो बाप हमेशा सूट-बूट पहने हुए दिखेगा. साथ ही बेटे के ग़रीब दोस्तों से नफ़रत करता दिखेगा. इसके अलावा फ़ोन पर हमेशा 400-500 करोड़ की बात करता दिखेगा. हां अगर हीरो गरीब घर का होगा तो बाप छोटी-मोटी नौकरी वाला होगा.

फ़िल्मों का विलेन

courtesy

भारतीय सिनेमा की फिल्मों में विलेन हमेशा ग़ैरकानूनी धंधे जरुर करता है. इसके अलावा फिल्म के विलेन के साथ दो चार चमचे हमेशा दिखेंगे.

हीरो और हीरोइन की मां

courtesy

हीरो के लिए हर फिल्म में मां अपनी पसंद की बहू जरुर चाहती दिखती है. इसके अलावा बहू संस्कारी और सीधी-सादी होनी भी चाहिए. इसके अलावा ज्यादातर फिल्मों में मां यह जरुर कहती नजर आती हैं ”मेरा बेटा लाखों में एक है”.

फ़िल्मों का पुलिसवाला

courtesy

फिल्म कोई सी भी लेकिन पुलिसवाला हमेशा आपको गुस्से वाला ही देखने को मिलेगा. इसके अलावा अनुशासनहीनता के कारण बार-बार निलंबित होने वाला होगा. सबसे बड़े डॉन को पकड़ने के लिए उसे बुलाया जाता है.

फ़िल्मों में बार-बार बोले जाने वाले डायलॉग

courtesy

ज्यादातर फिल्मों में बोले जाने वाला डायलॉग, भगवान के लिए मुझे छोड़ दो. प्यार पर पड़कर हीरो हीरोइन के द्वारा बोलने वाला डायलॉग, मैं तुम्हारे बिना जी नहीं सकती. कान खोलकर सुन लो उस लड़के से तुम्हारी शादी नहीं होगी. यह तो बहुत पुराना डायलॉग है लेकिन आज भी फिल्मों में बोला जाता है.

फ़िल्मों में हीरो और हीरोइन के दोस्त

courtesy

हीरो और हीरोइन के दोस्त हमेशा उन से थोड़ा कम ख़ूबसूरत होंगे. अमीर हीरो-हीरोइन के हमेशा गरीब दोस्त होते हैं. हीरोइन को पटाने के लिए पहले उसकी सहेली यानि उसकी दोस्त को इम्प्रेस करना.

फ़िल्मों का मुसलमान

courtesy

फिल्म कोई सी भी हो लेकिन मुसलमान को हमेशा फिल्म के एक बार नमाज़ पढ़ते हुए जरुर दिखाया जाएगा. मुसलमान को ज्यादातर फिल्मों में आतंकवादी दिखाया जाएगा. मुसलमान की कार गैराज या मोटर साइकिल रिपेयर की दुकान होगी.

फ़िल्मों में NRI

courtesy

फ़िल्मों का  NRI हमेशा लड़की देखने इंडिया आता है. फिल्मों का NRI को हमेशा अमीर होता है और उसकी ढेर सारी गर्लफ्रेंड्स भी जरुर होगी.

Published by Lakhan Sen on 12 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles