दुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में गुरुग्राम टॉप पर, सबसे प्रदूषित राजधानी है दिल्ली

Get Daily Updates In Email

दुनिया के सबसे ज़्यादा प्रदूषित 10 शहरों में से सात भारत में हैं. इतना ही नहीं पांच तो राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में ही मौजूद है. हाल ही में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक देश की राजधानी दिल्ली के निकट गुरुग्राम दुनिया का सबसे ज़्यादा प्रदूषित शहर है. ब्लूमबर्ग के मुताबिक आईक्यूएयर एयरविज़ुअल एंड ग्रीनपीस द्वारा जारी आंकड़ों में बताया गया है कि वर्ष 2018 के दौरान प्रदूषण स्तर के मामले में गुरुग्राम दुनिया के सभी शहरों से आगे रहा है.

View this post on Instagram

Посовещается всем тем, кто думает, что в Москве есть проблема с загрязнением воздуха 😬 Вот так сейчас каждое утро выглядит пригород Дели, а в самой столице ещё хуже – не видно даже соседнего балкона 🙈 Днём становиться чуть лучше, когда туман рассеятся, но из общей массы этого серого облака туман составляет процентов 15-20 😒 И так будет ещё месяц, если не больше. А все потому что бездумно жгут поля, фейрверки на недавно прошедший фестиваль Дивали, плюс количество автотранспорта.в Индии нет корпоративных автобусов как у нас – здесь корпоративное такси… а теперь представьте сколько здесь компаний и сколько в них работает человек, а самое главное сколько нужно машин такси чтобы их развозить каждое утро и вечер 😱 #мояиндийскаяжизнь #экология #грязныйвоздух #туман #чеммыдышим #дели #индия #india #polution #delhi #gurgaon #howwebreathe #delhipolution

A post shared by Daria Abhinav (@daria_abhinav) on

हालांकि पिछले साल की तुलना में उसका स्कोर कुछ बेहतर हुआ है. शीर्ष पांच शहरों में चार शहर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का हिस्सा हैं. दुनिया के 20 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में से 15 भारत के हैं. गुरुग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और भिवाड़ी शीर्ष छह प्रदूषित शहरों में शामिल हैं. यह बात एक नए अध्ययन में कही गई है.

View this post on Instagram

#delhi #polution #delhipolution

A post shared by Deepika Sharma (@thepika_sharma) on

अध्ययन के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) पिछले साल विश्व में सर्वाधिक प्रदूषित क्षेत्र के रूप में उभरा था. रिपोर्ट में वायु गुणवत्ता को पीएम 2.5 के संदर्भ में मापा गया है. इस रिपोर्ट में चीन के शहरों की हवा सुधरी है और वहां सुधार देखने को मिला है. रिपोर्ट में कहा गया है, ‘उद्योगों, घरों, कारों और ट्रकों से वायु प्रदूषक भी प्रदूषकों में से सूक्ष्म प्रदूषक कण मानव स्वास्थ्य पर सर्वाधिक प्रभाव डालते हैं.’

ग्रीनपीस इंडिया से जुड़ी कार्यकर्ता पुजारिनी सेन ने कहा कि रिपोर्ट हमें अदृश्य प्रदूषक तत्वों को कम करने की दिशा में हमारे प्रयासों की याद दिलाती है. जबकि दिल्ली दुनिया की 11वीं सबसे प्रदूषित शहर है. लेकिन अगर दुनियाभर के देशों की राजधानियों की बात करें तो उसमें सबसे ज्यादा प्रदूषित राजधानी दिल्ली है.

View this post on Instagram

#delhipolution #smoke #foge

A post shared by Vinay Parashar 🔵 (@vinu_parashar) on

दूसरी तरफ़ एक ज़माने में दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर रहा बीजिंग इस बार 2018 के पीएम 2.5 डाटा के आधार पर 122वें स्थान पर चला गया है. कुल टॉप-20 शहरों में से 18 शहर भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के हैं. इसके अलावा डाटा से यह भी सामने आया है कि नौ दक्षिणी एशियाई शहरों की स्थिति दिल्ली से भी ज्यादा गंभीर है.

Published by Yash Sharma on 06 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles