महिला दिवस : भारत की पांच महिलाएं जिन्होंने बढ़ाया देश का मान, कोई बनीं राष्ट्रपति तो कोई रहीं PM

Get Daily Updates In Email

आज राष्ट्र निर्माण में महिलाएं भी पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं. महिलाओं के सम्मान को सलाम और उनके आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के लिए दुनियाभर में 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है. ऐसे ही भारत में भी ऐसी कईं महिलाएं हुई है जिन्होंने अपने पद पर रहते हुए अपना और अपने देश का नाम रोशन किया है. आइए बताते हैं उनके बारे में.

1. इंदिरा गांधी

View this post on Instagram

#IndiraGandhi #Indira100

A post shared by Indira Gandhi (@indira___gandhi) on

इंदिरा गांधी ना केवल भारतीय राजनीति पर छाई रहीं बल्कि विश्व राजनीति पर भी वह काफी प्रभावशाली रहीं. वह देश की पहली महिला प्रधानमंत्री भी रहीं. इंदिरा गांधी ने मात्र 12 साल की उम्र में देश की सेवा शुरू कर दी थी. इतना ही नहीं इंदिरा गांधी को ‘लौह-महिला’ के नाम से संबोधित किया जाता है.

2. प्रतिभा पटेल

देश की पहली महिला राष्ट्रपति रहीं प्रतिभा पाटिल ने भी देश को विश्व पटल पर गौरवान्वित किया है. अपने करियर के शुरुआती दौर में वह वकील भी रहीं. प्रतिभा पाटिल ने अपने 28 साल के राजनीतिक जीवन में शिक्षा उप मंत्री से सामाजिक कल्याण मंत्री, पर्यटन और आवास मंत्री और देश के कई मुख्य पदों पर भी काम किया है. साथ ही वह राज्यपाल के पद पर भी कार्यरत रहीं.

3. सरोजनी नायडू

सरोजनी नायडू एक महान कवयित्री और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थीं. सरोजनी जी पहली महिला थी जो इंडियन नेशनल कांग्रेस की अध्यक्ष और किसी प्रदेश की गवर्नर बनीं थीं. सरोजनी ज्यादातर अपनी कविताएं बच्चों पर लिखती थीं.

4. सायना नेहवाल

View this post on Instagram

☺️☺️

A post shared by SAINA NEHWAL (@nehwalsaina) on

विश्व की नंबर वन बैडमिंटन प्लेयर सायना ने अपने क्षेत्र में देश का गौरव हमेशा बढ़ाया है. उन्होंने देश को बैडमिंटन में कई सारे खिताब दिलाए हैं. इतना ही नहीं ओलंपिक्स खेलों में बैडमिंटन में मेडल जितने वाली वह पहली भारतीय भी रही हैं.

5. मेरीकॉम

मेरीकॉम एक मशहूर भारतीय महिला बॉक्सर है. जिन्होंने 2012 में ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था और ब्रोंज मैडल हासिल किया था. पहली बार भारतीय बॉक्सर महिला यहां तक पहुंची थी. इसके अलावा वह 6 बार वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीत चुकी हैं. जो कि अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड है. मेरी ने अपने बॉक्सिंग कॅरियर की शुरुआत 18 साल की उम्र में ही कर दी थी.

Published by Yash Sharma on 08 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles