दूसरे चरण के मतदान में दिखे लोकतंत्र के कई रंग देखिए किस अंदाज़ में मनाया गया यह राष्ट्रीय पर्व

Get Daily Updates In Email

देश में लोकसभा चुनावों का खुमार धीरे-धीरे अपने चरम की ओर बढ़ रहा है. सात चरणों में होने जा रहे लोकसभा चुनावों के लिए दूसरे चरण की वोटिंग कल संपन्न हुई. जहां सुबह-सुबह टीवी चैनलों पर यह कयास लगाए जा रहे थे कि 2014 लोकसभा चुनावों की तुलना में वोटिंग कम हो रही है शाम आते-आते ज्यादातर संसदीय क्षेत्रों में मतदान का प्रतिशत 2014 के आंकड़ों को भी पार कर गया.

दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल को 95 संसदीय सीटों के लिए हुए मतदान में मतदाताओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया और सभी सीटों पर कुल वोटिंग प्रतिशत 66 रहा जो 2009 के लोकसभा चुनावों से 3.5 प्रतिशत और 2014 के संसदीय चुनावों से 1 प्रतिशत अधिक रहा. कल हुए मतदान में 11 राज्यों व 1 केंद्रशासित प्रदेश की लोकसभा सीटों के लिए मतदान संपन्न हुआ जिसमें, असम की 5, बिहार की 5, जम्मू और कश्मीर की 2, कर्नाटक की 14, महाराष्ट्र की 10, मणिपुर की 1, ओडिशा की 5, तमिलनाडु की 38, उप्र. की 08, प. बंगाल की 03, छत्तीसगढ़ की 03 व केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी की 01 सीट पर वोट डाले गए.

खास बात यह रही कि मतदान के लिए पहली बार मतदान करने जा रहे युवाओं और 100 साल की उम्र पार कर चुके बुजुर्गों तक ने लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागीदारी निभाई. यही नहीं पत्रकार जो खुद चुनाव कवर रहे थे उन्होंने और सेलिब्रिटिज ने भी मतदान किया.

कुछ स्थानों पर ऐसे शादी शुदा जोड़े भी नजर आए जो मतदान करने के लिए सीधे शादी के मंडप से उठकर पोलिंग बुथ तक वोट करने पहुंचे. कर्नाटक के पांडवपुरा इलाके में मतदान करने पहुंची एक गर्भवती महिला ने वोट देने के थोड़ी देर बाद ही बच्चे को जन्म दिया.

प. बंगाल जहां वोटिंग के दौरान कुछ जगहों पर हिंसा हुई वहां सबसे अधिक 76.42 प्रतिशत मतदान हुआ वहीं जम्मू और कश्मीर में सबसे कम 45.46 प्रतिशत मतदान हुआ लेकिन खास बात यह रही कि सबसे ज्यादा संवेदनशील इलाकों में से एक जम्मू और कश्मीर के संसदीय क्षेत्रों पर हुए चुनावों में हिंसा की एक भी घटना नहीं हुई.

Published by Vijay Singh Sisodiya on 19 Apr 2019

Related Articles

Latest Articles