प्रतिबंध के बाद भी एपीके फाइल के जरिये टिकटॉक ऐप डाउनलोड कर खतरा मोल ले रहे हैं इंटरनेट यूजर्स

Get Daily Updates In Email

पिछले दिनों मद्रास हाईकोर्ट के निर्देश के बाद, तेजी से लोगों के बीच लोकप्रिय हुए मोबाइल ऐप टिकटॉक को गूगल प्ले स्टोर व एपल आई ट्यून्स से हटा दिया गया है. पहले से ही उपलब्ध गानों, वीडियो और डायलॉग्स के साथ खुद को प्रस्तुत करने की आजादी देने वाला यह ऐप जल्दी ही लोगों के बीच लोकप्रिय हो गया था. जिसके देखा देखी इसी तरह के और भी कई मोबाइल ऐप तेजी से उभरे हैं.

हालांकि मद्रास हाईकोर्ट द्वारा इस पर बैन लगाए जाने के आदेश के बावजूद लोगों में इस ऐप के प्रति दिवानगी कम नहीं हुई है, इसी के चलते इंटरनेट यूजर्स इस ऐप का एपीके (एन्ड्रॉइड पैकेज किट) ऑनलाइन सर्च कर रहे हैं. दरअसल ऐसे ऐप जो गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं होते उन्हें एपीके फाइल के जरिये स्मार्टफोन्स में इंस्टॉल किया जा सकता है.

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एपीके फाइल जो कि गूगल प्ले स्टोर द्वारा आधिकारिक नहीं होती उन्हें इंस्टॉल करने के लिए आपको अपने मोबाइल में अननोन सोर्सेज को अलाऊ करना होगा. ऐसी परिस्थिति में यदि संबंधित ऐप के माध्यम से आपका मोबाइल हैक हो या फिर आपके मोबाइल का डाटा चोरी हो तो इसके प्रति प्ले स्टोर की कोई जिम्मेदारी नहीं होती.

Image Source

मद्रास हाईकोर्ट ने टिकटॉक ऐप पर बैन लगाने का आदेश पारित करते वक्त टिप्पणी की थी कि यह ऐप बच्चों में यौन हिंसा और पोर्नोग्राफी को बढ़ावा दे रहा. अदालत ने केंद्र सरकार के आईटी मंत्रालय को इस ऐप पर रोक लगाने संबंधी दिशा-निर्देश दिए थे. इसके बाद ही आईटी मंत्रालय ने गूगल और एपल को इस ऐप को अपने प्लेटफॉर्म्स से हटाने के लिए पत्र लिखा था.

हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट में लगाई गई है याचिका

मदुरै हाईकोर्ट के फैसले के बाद इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई गई है हालांकि फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने इस पर सुनवाई करने से मना कर दिया है क्योंकि हाईकोर्ट में इस मामले पर सुनवाई अब भी जारी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हाईकोर्ट का यह फैसला 3 अप्रैल को आया था और इसी मामले में अगली सुनवाई 23 अप्रैल को होना है.

Image Source

टिकटॉक ऐप का मालिकाना हक चाइनीज कंपनी बाइटडांस के पास है. कंपनी ने मद्रास हाईकोर्ट द्वारा ऐप पर बैन लगाए जाने के बाद कहा है कि उन्हें भारतीय न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है. भारत में टिकटॉक ऐप को 240 मिलियन बार डाउनलोड किया जा चुका है और बाइटडांस के अनुसार भारत में इस ऐप के 12 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं.

Published by Vijay Singh Sisodiya on 19 Apr 2019

Related Articles

Latest Articles