भारत सरकार ने लॉन्च की बांस की बोतल, जानिए इसके फायदे और कीमत के बारे में

Get Daily Updates In Email

प्लास्टिक के इस्तेमाल के खिलाफ इस समय पूरे देश में अभियान चल रहा है. 2 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह रोक लगा दी है. एक तरफ जहां प्लास्टिक के इस्तेमाल को लेकर होने वाले नुकसान के बारे में लोगों को जागरुक किया जा रहा है वहीं, प्लास्टिक के स्थान पर इस्तेमाल होने वाली नई-नई चीजें ईजाद हो रही हैं.

View this post on Instagram

About 20 years ago, Dhritiman Borah told his academician parents that he wouldn’t pursue school beyond Class XII; instead, he started a business making bamboo furniture and kitchen and agricultural implements. It took him 17 years to come up with a product that would make him stand out from the crowd: the bamboo water bottle. Now, in less than a year, his organic bottles made in Assam have caught the attention of consumers in India and beyond who want to drink from natural containers. Each bottle takes about five hours to make — from cutting the bhaluka (a variety of bamboo) to boiling, drying, smoking, joining the separate parts, and finishing. Boiling purifies and strengthens the wall around the hollow of the culm, and this helps the bottle last at least 18 months. The bottles are priced between ₹250 and ₹400. Click the link in bio to read more. | 📷: Ritu Raj Konwar #assam #bamboo #bamboobottle #waterbottle #recycle #naturalcontainers #india #sustainableliving #ecofriendlyproducts

A post shared by The Hindu (@the_hindu) on

प्लास्टिक की बोतल के विकल्प के तौर पर अब बांस की बोतल तैयार की गई है. बांस की इस बोतल को खादी ग्रामोद्योग आयोग ने तैयार किया है. बांस की बोतलों को प्लास्टिक बोतलों के स्थान पर इस्तेमाल किया जा सकता है. खादी स्टोर में इस बोतल की बिक्री शुरू करने जा रहा है. एमएसएमई मंत्रालय (MSME) बांस की बोतल बनाने को बढ़ावा दे रहा है. केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने बांस की इस बोतल को एक कार्यक्रम के दौरान लॉन्च कर दिया है. इन बोतलों को घर में बड़ी आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है.

View this post on Instagram

The Union Minister for Road Transport & Highways and Micro, Small & Medium Enterprises, Shri Nitin Gadkari at the launch of the Special Sales Campaign & launch of the KVI Product, at Khadi India Outlet, Connaught Place, in New Delhi on October 01, 2019. Photo By Pushkar vyas.(PIB,PHOTODIVISION) #@photomaharathi #@best_photograph_pics #picoftheday #@_hutterbox #@_shutterbox #@world_click_ #@amazing__india #@yourclicks_india #shutterhub_india #photomaharathi #sutterhubindia #@shutterhub.india #welcome #instagramreport #indiatourism #bestshoot #kvi #bjpminister #ilovemyphotographygear #khadiindia #inatagood #photooftheday #nitingadkari #photojournalism #nurphoto_agency #colour #everydayeverywhere #indialove #instalike #instgram #inastagood #india_gram #instaproject #exhibition #india_clicks #colourofindia #instagramfollowers # @pushkarvyas

A post shared by Pushkar Rajan Vyas (@pushkarvyas) on

इन बोतलों की क्षमता 750 एमएल से लेकर 1 लीटर तक है और इनकी कीमत 300 रुपए से शुरू होती है. एक लीटर बोतल की कीमत 560 रुपए है. हालांकि केवीआईसी द्वारा पहले ही प्लास्टिक के गिलास की जगह मिट्टी के कुल्हड़ का निर्माण शुरू किया जा चुका है. इस प्रक्रिया के तहत अभी तक मिट्टी के एक करोड़ कुल्हड़ बनाए जा चुके हैं.

View this post on Instagram

केन्‍द्रीय सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम और सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती की पूर्व संध्‍या पर सोमवार को नई दिल्‍ली में केवीआईसी के नए उत्‍पादों को लॉन्‍च करने के साथ-साथ एक विशेष बिक्री अभियान भी शुरू किया। उन्‍होंने बांस से बनी 700 एमएल और 900 एमएल की क्षमता वाली बोतल को लॉन्‍च किया। यह बोतल त्रिपुरा स्थित एक संगठन द्वारा बनाई गई है। इसे प्‍लास्टिक की बोतलों का सटीक प्रतिस्‍थापन या विकल्‍प माना जा रहा है क्‍योंकि यह प्राकृतिक, किफायती, आकर्षक और सर्वाधिक पर्यावरण अनुकूल है। उन्‍होंने लाडली द्वारा तैयार किफायती सैनिटरी नैपकि‍न के साथ-साथ एक नए साबुन और कच्‍ची घानी सरसों तेल को भी लॉन्‍च किया। . . . . . . #Kulhar #KVIC #MahatmaGandhi #MediumEnterprises #Micro #NitinGadkari #RoadTransportandHighways #Small

A post shared by Nationalwheels India News (@nationalwheels_india_news) on

बांस की बोतल में पानी पीने के फायदे बहुत हैं. रोजाना बांस के पानी से चेहरा धोने पर बढ़ती उम्र के निशान यानि एजिंग को रोकने में फायदेमंद साबित होता है. क्योंकि बांस के पानी में एंटीऑक्सिडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जिससे शरीर में होने वाली डीएनए की क्षति को ठीक करने में मदद मिलती है. त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद बांस में कोलेजन तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है. जिससे बालों और त्वचा की नई कोशिकाओं को बनने में मदद मिलती है.

ऐसे में बांस के पानी का उपयोग करने से त्वचा और बालों संबंधी समस्याओं से निजात मिलती है. हड्डियों की मजबूती के लिए बांस का पेड़ बेहद मजबूत होता है. इसलिए इसका उपयोग एक डंडे के रुप में भी किया जाता है. लेकिन बांस के पानी में उच्च मात्रा में सिलिका नामक तत्व पाया जाता है. जिससे शरीर की हड्डियों को मजबूती मिलती है. अगर आपको तनाव की वजह से अक्सर सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या रहती है.

Published by Yash Sharma on 03 Oct 2019

Related Articles

Latest Articles