9 सालों बाद मार्च महीने में आ रही है हनुमान जयंती, शुभ मुहूर्त में पूजा करने से होंगे सभी कष्ट दूर

Get Daily Updates In Email

हमारा भारत देश संस्कृति प्रधान देश है. यहाँ भगवान की पूजा से लेकर उनके व्रत और त्योहारों तक सभी को महत्ता दी जाती है. भगवान से जुड़ा कोई भी दिन देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. ऐसे में हम आपको बता रहे हैं 31 मार्च को मनाई जाने वाली हनुमान जयंती के बारे में. भगवान हनुमान को बल, बुद्धि और पराक्रम का देवता माना जाता है. और यह भी कहा जाता है उनकी पूजा अर्चना से व्यक्ति के कष्टों का निवारण भी होता है.

इस वर्ष हनुमान जयंती 31 मार्च को मनाई जा रही है जबकि हर साल यह जयंती अप्रैल महीने में होती है. मार्च महीने के दौरान हनुमान जयंती पूरे 9 साल बाद मनाई जाना है. पिछली मार्च की हनुमान जयंती के बारे में बात करें तो इसे 31 मार्च 2008 को मनाया गया था. हनुमान जयंती के बारे में बता दें कि हर वर्ष चैत्र मास की पूर्णिमा को हनुमान जयंती मनाई जाती है. इस दिन शुभ मुहूर्त में पूजा-अर्चना करने से ना केवल सारे कष्ट दूर होते हैं बल्कि इसके काफी अच्छे प्रभाव भी होते हैं.

courtesy

पूजा अर्चना की विधि:

इस शुभ मुहूर्त पर पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ मुंह करके लाल कपड़ा पहन कर लाल आसन पर हनुमान जी को स्थापित करें. इसके उपरांत भगवान हनुमान को सिंदूर का टिका लगाएं और लाल फूल अर्पित करके धूप और दीपक जलाएं.

शुभ मुहूर्त:

पूर्णिमा पर पूजा का शुभ मुहूर्त 30 मार्च को 07.36.38 बजे से आरंभ होगा जोकि 31 मार्च को 06.08.29 पर समाप्त होगा.

चौपाई पाठ:

कहते हैं कि हनुमान जी सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले भगवान होते हैं. और उनके सभी भक्त हनुमान चालीसा का पाठ करने से नहीं चूकते हैं. ऐसे में हनुमान चालीसा की तीन चौपाईयां जिनका पाठ फलदायी होता है. चलिए बताते हैं कि कौनसी हैं वे चौपाईयां जिनके पाठ से मनुष्य को लाभ होते हैं.

courtesy

1. आपकी बौद्धिक क्षमता और स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए चौपाई:

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवन-कुमार। बल बुधि बिद्या देहु मोहिं हरहु कलेस बिकार।।

2. सेहत संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए चौपाई:

नासै रोग हरे सब पीरा। जपत निरंतर हनुमत बीरा।।

संकट तै हनुमान छुडावै। मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।

3. संकट और परेशानियों से मुक्ति के लिए चौपाई:

संकट तै हनुमान छुडावै। मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।

Published by Hitesh Songara on 23 Mar 2018

Related Articles

Latest Articles