कॉमेडियन सिद्धार्थ ने लगाए घरवालों पर आरोप, कहा- पेरेंट्स ने खाने में ड्रग दिया

Get Daily Updates In Email

स्टैंडअप कॉमेडी की दुनिया में अपनी पहचान बना चुके सिद्धार्थ सागर कुछ दिनों से इंडस्ट्री से गायब थे और लंबे समय तक वे किसी के सामने भी नहीं आए. लेकिन फिर अचानक सामने आकर उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें उन्होंने जानकारी दी कि वे काफी परेशानी से जूझ रहे हैं. सिद्धार्थ ने अपने पोस्ट किए गए वीडियो में कहा, ”मुझे मीडिया से बहुत सारे कॉल आए, मेरे दोस्तों के भी कॉल आए कि मैं ठीक हूं या नहीं… मैं कहां पर हूं कैसा हूं… बता दूं कि मैं बहुत परेशानी से गुजरा हूं… मैंने अपनी फैमिली के खिलाफ शिकायत की थी.”

right now im in safe hands …will update you guys in 2-3days

A post shared by Sidharth Sagar (@sidharthsagar.official) on

अपने पहले वीडियो से लोगों के दिलों में सबकुछ जानने की उत्सुकता जगा चुके सिद्धार्थ रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस से सामने आए हैं. उन्होंने इस प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि उनकी जिंदगी नर्क जैसी हो गई थी. सिद्धार्थ सागर ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि, इस परेशानी की शुरुआत उस वक्त हुई थी जब उनकी माँ की जिंदगी में सुयश गाडगीळ नामक व्यक्ति की एंट्री हुई थी.

गौरतलब है कि सिद्दार्थ के माँ-बाप यूदुजे से करीब 20 सालों से अलग रह रहे हैं. माँ से करीबी होने बाद भी सिद्धार्थ काफी डिप्रेशन में चले गए थे. उनका कहना है कि वे एक काफी बुरे दौर से गुजरे थे. उन्होंने इस बारे में अपने पेरेंट्स से भी बात की और उन्होंने सिद्धार्थ को मेडिसिन्स पर रखना शुरू कर दिया, इसके बाद उन्हें ऐसा लगने लगा कि यह बाईपोलर बीमारी है.

उनका कहना है कि वे इन सब के कारण काफी दुखी रहने लगे थे और कुछ चौंक भी गए थे. उनका कहना है कि उन्हें इन बीमारी के बारे में जानकारी थी लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें इसके लक्षण नहीं नजर आ रहे थे. लेकिन उन्होंने देखा कि उनके पेरेंट्स ही उन्हें खाने में ड्रग मिलाकर देने लग गए थे. वे कहते हैं कि उन्होंने कभी भी अपनी कमाई का हिसाब नहीं रखा है.

All media people please share your number so that I can share the venue and timing

A post shared by Sidharth Sagar (@sidharthsagar.official) on

उन्होंने आरोप लगते हुए यह भी बताया कि काफी समय बाद उन्हें इस बात का अहसास हुआ कि उनके पास पैसे नहीं है और उनकी माँ उन्हें परेशान कर रही हैं. इस चीज से वे इतने अधिक डिस्टर्ब हो गए कि उन्होंने यह सोच लिया था कि वे अब अपने घर से दूर जाकर रह लेंगे. लेकिन इसके बाद वे घर आ गए और उन्होंने सोचा कि वह रिहैब में जाकर ठीक हो जाएंगे. मगर इससे सिद्धार्थ की हालत और बुरी हो गई.

right now im in safe hands …will update you guys in 2-3days

A post shared by Sidharth Sagar (@sidharthsagar.official) on

उन्होंने कहा कि रिहैब में उनके साथ गलत व्यवहार हुआ, वहां के लोगों ने उन्हें मारा भी. वहां से निकलने में एक मैनेजर ने उनकी मदद की. उन्होंने कहा कि जब वे घर पर होते थे तो सुयश से उनकी बहुत लड़ाई होती थी. इस कारण उन्होंने तय किया कि वह नॉन कोग्निजेब्ल रिपोर्ट फ़ाइल करेंगे. सिद्धार्थ ने बताया कि जब वे गोवा के लिए रवाना हुए तो इन लोगों ने उनका अपहरण कर उन्हें पागलखाने भेज दिया. यहाँ उन्हें काफी टॉर्चर किया गया. यह जगह उनकी माँ को महंगी लगने लगी तो उन्हें यहाँ से आशा की किरण नाम की जगह पर शिफ्ट कर दिया गया.

Even before i started i knew i would win😎

A post shared by Sidharth Sagar (@sidharthsagar.official) on

यहाँ पर लोगों के द्वारा उन्हें एक नई शुरुआत करने की प्रेरणा दी गई. सिद्धार्थ कहते हैं कि अब उनकी यही कोशिश है कि वे अपने जीवन की नई कोशिश करें. उन्होंने अपने परिवार से भी दूरी बना ली है और उनका कहना है कि वे अपनी नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं.

Published by Hitesh Songara on 03 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles