ट्विंकल के ट्रोल का अक्षय ने दिया जवाब, जुहू बीच के पास टॉयलेट बनवाने में खर्च किए 10 लाख रूपए

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस ट्विंकल खन्ना सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. वे आए दिन अपने फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं. आपको बता दें कि कुछ समय पहले ही ट्विंकल खन्ना ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक फोटो शेयर किया था जिसमें एक व्यक्ति खुले में शौच करते हुए नजर आ रहा था. इसका एक फोटो ट्विंकल खन्ना ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया था जिसे शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन दिया था-  किस तरह खुले में शौच करने वाले लोगों की वजह से मॉर्निंग वॉक बेकार चला जाता है.

Courtesy

इसके बाद अब उनके पति अक्षय कुमार ने जुहू बीच पर बायो-टॉयलेट बनवाया है, ताकि बीच को शौच मुक्त किया जा सके. अक्षय कुमार ने शिव सेना लीडर आदित्य ठाकरे के साथ मिलकर जुहू बीच पर टॉयलेट बनवाया है, जिसके लिए उन्होंने 10 लाख खर्च रुपए खर्च किए. ट्विंकल खन्ना के इस फोटो को पोस्ट किए हुए करीबन 8 महीने बीत चुके हैं और अब उनके पति ने बायो-टॉयलेट के लिए फंड्स दिए, जो कि जुहू बीच पर पब्लिक इस्तेमाल के लिए बनवाया गया है. अपने फोटो को पोस्ट करते हुए ट्विंकल ने लिखा था, ‘गुड मॉर्निंग, मुझे लगता है कि ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा 2′ का पहला सीन यह है.’

ट्विंकल के इस फोटो पर लोगों ने खूब रीट्वीट भी किया था. कुछ लोगों ने इस फोटो पर पॉजिटिव रिएक्शन दिए थे तो कुछ लोगों ने इस पोस्ट को नापसंद करते हुए इसे गरीबों के प्रति असंवेदनशील बताया, जो झुग्गियों में रहते हैं और उनके पास पब्लिक टॉइलट नहीं होने की वजह से खुले में शौच के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचता.

Courtesy

ट्विंकल के ट्विंटर हैंडल पर उनके 31.2 लाख फॉलोअर्स हैं और उस ट्वीट के साथ ही लोगों ने कमेंट्स कर यह बताना शुरू कर दिया था कि जहां वह व्यक्ति शौच कर रहा है उसके पास ही पब्लिक टॉइलट मौजूद था. कुछ दिनों पहले ही बीएमसी ने कहा कि अक्षय द्वारा किए गए इस सहयोग की वजह से इस समस्या का आंशिक समाधान हुआ है और 3 या 4 ऐसे टॉइलट की व्यवस्था करनी होगी, ताकि जुहू और वर्सोवा बीच शौच मुक्त हो सके.

Courtesy

BMC अधिकारियों ने कहा कि अक्षय ने शिव सेना लीडर आदित्य ठाकरे के साथ मिलकर बीच पर टॉयलेट की व्यवस्था की है और इसके लिए इन्होंने 10 लाख रुपए खर्च किए. इस टॉइलट में 6 सीट हैं, जिनमें से 3 महिलाओं के लिए और 3 पुरुषों के लिए हैं. पेशाब के लिए अलग व्यवस्था की गई है. के-वेस्ट वॉर्ड के असिस्टेंट म्यूनिसिपल कमिश्नर प्रशांत गायकवाड़ ने बताया, ‘इस टॉइलट में बायो-डाइजेस्टर है, जिससे यहां बदबू नहीं फैलेगी। इस टॉयल से न केवल झोपड़ियों में रहने वाले वहां के लोकल के लिए बहुत बड़ा सुकून है, बल्कि वहां घूमने-फिरने के लिए रोज पहुंचने वाले लोगों के लिए भी बड़ी राहत है.’

Published by Chanchala Verma on 04 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles