मैं सबके लिए तब्बू हूँ, लेकिन मनोज बाजपेयी के लिए तपन हूं : तब्बू

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस तब्बू दर्शकों की पसंदीदा एक्ट्रेस हैं. वे आखिरी बार फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ में नजर आईं थीं. एक्ट्रेस का कहना है कि फिल्मों में आना उनकी जिंदगी का सबसे बड़ा संयोग था क्योंकि फिल्मों में काम करना उन्हें नापसंद था और ना ही उनकी ऐसी कभी इच्छा थी. अपने बॉलीवुड डेब्यू को लेकर एक्ट्रेस ने बताया कि “मैं फिल्म नहीं करना चाहती थी पर शेखर अंकल ने बहुत दबाव डाला तो मैंने कर लिया. मुझे अभिनय अच्छा नहीं लगता था. अपने आप को बतौर अभिनेत्री कभी देखा नहीं था इसलिए मुश्किल था. मुझे लगा था एक फ़िल्म करूंगी और इंडस्ट्री से चली जाऊंगी.”

Courtesy

फिल्मों में अपने चुनौतीपूर्ण किरदारों को लेकर तब्बू का कहना है कि उन्होंने चुनौतीपूर्ण किरदार आज से 20-25 साल पहले ही कर लिए हैं. तब्बू ने माना कि उस दौरान निर्माता अभिनेत्रियों के लिए चुनौतीपूर्ण विषयवाली फिल्मों पर पैसे लगाने से कतराते थे और ऐसी फिल्मों के निर्माण में झिझक थी, पर वो शुक्रगुज़ार हैं कि उन्हें ऐसे विषय और लोग मिले जिन्होंने आम फ़िल्मों से हटकर बनी फ़िल्मों में काम किया जो लैंडमार्क फ़िल्में साबित हुईं. इन फ़िल्मों में ‘अस्तित्व’, ‘चांदनी बार’, ‘मक़बूल’ और ‘हू तू तू’.

Courtesy

फिल्म ‘अस्तित्व’ के बारे में बात करते हुए तब्बू ने कहा, “‘अस्तित्व’ फिल्म में मैं पहली बार माँ का किरदार निभा रही थी, मुझे झिझक नहीं थी पर लोग ज़रूर चौंक गए थे. पर वो मेरी ज़िन्दगी की सबसे संतोषजनक फ़िल्म रही. उसके बाद ही लोगों ने मुझे भरोसेमंद अभिनेत्री के रूप में स्वीकारा”. एक्ट्रेस जल्द ही फिल्म ‘मिसिंग’ में नजर आने वाली हैं. फिल्म 6 अप्रैल को रिलीज़ होने वाली हैं.  इस फिल्म में उनके साथ मनोज बाजपेयी भी नजर आने वाले हैं. दोनों करीबन 18 साल बाद एक साथ नजर आने वाले हैं. इस फिल्म को मुकुल अभयंकर ने डायरेक्ट किया है.

Courtesy

अपने और मनोज बाजपेयी के रिश्ते पर बात करते हुए तब्बू ने कहा, “मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी पूंजी मेरे रिश्ते हैं. वही मेरी सबसे बड़ी सफ़लता है. करियर रहे ना रहे मायने नहीं रखता पर रिश्तों का होना मेरे लिए बहुत मायने रखता है.” तब्बू कहती हैं कि उन्हें अफ़सोस है कि उन्हें मनोज के साथ काम करने का ज़्यादा मौका नहीं मिला. वो कहती हैं, “मैं उन्हें बहुत मानती हूँ. मुझे जब कुछ समझ नहीं आता तब मनोज ही मुझे समझाते हैं. फिर वो चाहे फ़िल्में हो या फिर कोई और बात.” आगे वो कहती हैं, “सबके लिए मैं तब्बू हूँ, लेकिन मनोज के लिए मैं तपन हूं. वो मुझे इसी नाम से पुकारते हैं.”

Courtesy

मनोज कहते हैं, “मेरी दिली इच्छा है कि मैं तपन के साथ अंग्रेजी फ़िल्म ‘द वॉर ऑफ़ द रोज़ेज़’ जैसी फ़िल्म करूं. ये फ़िल्म पति-पत्नी के संबंधों पर आधारित है. एक पति अपनी पत्नी को मारना चाहता है- इसे हास्य अंदाज़ में पेश किया गया है जो अपने आप में कमाल की बात है. कुछ ऐसा ही मिले तो मैं बिना देर किए फ़िल्म करना चाहूंगा.”

Courtesy

तब्बू कहती हैं “जैसे फ़िल्म ‘द वॉर ऑफ़ द रोज़ेज़’ में पति अपनी पत्नी को मारने पर उतारू है उसी तरह इनका सच अंदर से निकल रहा है क्योंकि मैं जिस तरह से इनको सताती हूँ वो अपने आप में एक कॉमेडी है.”

Published by Chanchala Verma on 05 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles