आम्रपाली ग्रुप पर बकाया हैं धोनी के 150 करोड़, वसूली के लिए पहुंचे दिल्ली हाईकोर्ट

Get Daily Updates In Email

रियल एस्टेट कंपनी आम्रपाली ग्रुप की मुसीबतें कम होती नहीं दिख रही हैं. दरअसल खबर है कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने इस कंपनी से 150 करोड़ रुपये वसूलने की कवायद शुरू कर दी है. धोनी ने यह फैसला ऐसा इसलिए किया है क्योंकि इस रियल एस्टेट ग्रुप का कई सालों से ब्रांड ऐंबैसडर होने के बावजूद उन्हें पैसा नहीं मिला है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आम्रपाली ग्रुप करोड़ों के लॉस में चल रहा है और उसके हजारों हाउसिंग प्रोजेक्ट्स लटक गए हैं.

courtesy

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट की मानें तो, ‘धोनी, केएल राहुल और भुवनेश्वर कुमार जैसे स्टार क्रिकेटरों की ऐंडोर्समेंट संभालाने वाली फर्म ऋति स्पोर्ट्स ने आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में बकाया वसूली के लिए एक केस दायर किया है.’

ऋति स्पोर्ट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर अरुण पाण्डेय मीडिया से कहा ‘उन्होंने हमें ब्रैंडिंग और मार्केटिंग ऐक्टिविटीज के लिए पैसे नहीं दिए.’ साथ उन्होंने यह भी बताया कि ऋति स्पोर्ट्स के 200 करोड़ रुपये आम्रपाली ग्रुप पर बकाया है.

धोनी करीब 6 से 7 वर्षों तक आम्रापाली ग्रुप के ब्रैंड ऐंबैसडर रह चुके हैं. लेकिन कंपनी द्वारा घर मिलने में हो रही देरी के कारण सोशल मीडिया पर चलाए गए अभियान के बाद धोनी ने 2016 में आम्रपाली ग्रुप अपना अनुबंध ख़त्म कर दिया था. सोशल मीडिया पर आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ चलाए गए कैंपेन में लोगों ने धोनी को उससे नाता तोड़ने की अपील की थी.

courtesy

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आम्रपाली ग्रुप ने 2011 के वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ियों को अपने नोएडा एक्सटेंशन स्थित आम्रपाली ड्रीम वैली प्रोजेक्ट में एक-एक विला गिफ्ट के तौर में दिया था. इसमें धोनी को 1 करोड़ रुपये की कीमत का घर और बाकि खिलाड़ियों को 55 लाख कीमत वाला घर गिफ्ट किया था.

आम्रपाली ग्रुप को नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 10 प्रोजेक्ट्स के 40 हजार से ज्यादा फ्लैट का पजेशन देना है. इस पर ग्रुप का कहना है कि रियल एस्टेट सेक्टर में आई मंदी की वजह से उसके अपार्टमेंट्स की कीमत घट गई हैं और उन्हें प्रोजेक्ट पूरा करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

Published by admin on 12 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles