विदेशी कंपनी 500 रुपए दिहाड़ी देकर मजदूरों पर कर रही थी अवैध दवाओं का परीक्षण, कई हुए बीमार

Get Daily Updates In Email

आए दिन हमारे सामने कई ऐसे मामले आ जाते हैं जिन्हें देखने के बाद हम भी हैरान रह जाते हैं. ऐसे में हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके अनुसार एक गाँव के 21 लोग बीमार हुए हैं जिन्हें साथ में एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि यह मामला राजस्थान के चुरू जिले के एक गांव से सामने आया है. जहाँ 21 लोगों के बीमार पड़ने पर उन्हें जयपुर के एक हॉस्पिटल में एडमिट किया गया है.

इन सभी पीड़ितों ने बीमार होने के पीछे एक फार्मा कम्पनी को जिम्मेदार बताते हुए आरोप लगाया है. इन सभी का कम्पनी पर यह आरोप हैं कि वे अपनी दवाइयों का टेस्ट किसी जानवर पर न करते हुए इंसानों पर करते हैं. और ये सभी लोग भी इन दवाइयों के कारण ही बीमार हुए हैं और यहाँ हॉस्पिटल तक पहुंचे हैं.

courtesy

इस बारे में जानकारी देते हुए एक मरीज ने ही यह बताया है कि, उनके गाँव बिदासर से 21 लोग एक साथ यहाँ पहुंचे थे. कम्पनी के द्वारा सभी को दवाइयां लेने के एवज में 500 रुपए रोजाना दिए जाने का ऑफर दिया जाता था. इन दवाइयों के कारण ही इस सभी की तबियत भी ख़राब हुई है. इस मामले में राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री काली चरण सराफ का भी बयान सामने आया है. उनका कहना है कि, “यह काफी गंभीर मुद्दा है, हमारे द्वारा मेडिकल हेल्थ के प्रमुख सचिव को मामले की पड़ताल का आदेश भी दे दिया गया है. इसके पीछे जो लोग भी जिम्मेदार होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.”

courtesy

गौरतलब है कि एक ऐसा ही मामला साल 2012 में मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में भी सामने आ चुका है. इस दौरान अवैध तरीके से इंसानों पर दवाइयों का टेस्ट किया जा रहा था जिसके चलते 32 लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा था. इस मामले में शहर के सरकारी हॉस्पिटल एमवाय का नाम सामने आया था.

Published by Hitesh Songara on 21 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles