घुंघराले बालों के कारण सचिन को एक दोस्त ने समझ लिया था ‘लड़की’, जानें सचिन की कुछ ऐसी ही 21 बातें

Get Daily Updates In Email

देश हो या दुनिया, जहाँ बात क्रिकेट की होती है वहां क्रिकेट के भगवान यानि सचिन तेंदुलकर का जिक्र होना तो लाजमी है. मास्टर ब्लास्टर सचिन के बारे में वैसे तो कई बातें ऐसी हैं जिन्हें हम आम बातों में सुन ही लेते हैं लेकिन इनके अलावा भी कई ऐसे रोचक तथ्य होते हैं जिनसे हम अच्चुते रह जाते हैं. सचिन आज 45 वर्ष के हो चले हैं लेकिन क्रिकेट की दुनिया में वे कल भी भगवान थे, आज भी हैं और आगे भी रहेंगे. सचिन का नाम आज भारत के क्रिकेटरों की उस लिस्ट में जुड़ चुका है जिनके बिना क्रिकेट शब्द ही अधूरा सा लगता है. सहीं के बारे में यदि लिखने चलें तो किताबें भी छोटी पड़ जाएँ, इसलिए आज हम कुछ खास बातें जो सचिन के बारे में बताती हैं आपके लिए लेकर आए हैं. चलिए जानते हैं उनके बारे में:

महाराष्ट्राचा हिरा…!! महाराष्ट्राची शान ..!! क्रिकेट विश्वाचा देव माणुस..!! खा.सचिन तेंनडुलकर यांना वाढदिवसाच्या हार्दिक शुभेच्छा ..!! महाराष्ट्राची सुंदरता पाहण्यासाठी follow करा @beautyofmaharashtra #happybirthdaysachin #sachintendulkar #cricketer #cricket #sachintendulkarfan #indiancricket #indiancricketteam #india #Maharashtra #marathi

A post shared by Beauty of Maharashtra (@beautyofmaharashtra) on

  • सचिन अपने शुरूआती करियर में टेनिस प्लेयर जॉन मैकनरों के बहुत बड़े फैन थे. यहाँ तक कि उन्हें क्रिकेट से अधिक लगाव टेनिस से रहा है.
  • सचिन तेंदुलकर को भारत का ऐसा पहला और अकेला खिलाड़ी कहा जाता है जिन्होंने अपना पहले रणजी, दिलीप और ईरानी ट्रॉफी मैच में शतक जमाया है.
  • पिता रमेश तेंदुलकर ने उन्हें यह नाम संगीतकार सचिन देव के नाम पर दिया था.
  • सचिन को क्रिकेट और टेनिस के अलावा गाड़ियों का जबरदस्त शौक है. जब सचिन ने डॉन ब्रेडमेन के 29 शतक की बराबरी की थी तो दुनिया में सबसे तेज फरारी चालक माइकल शुमाकर ने फरारी 360 मोडिना उन्हें तोहफे में दी थी.
  • सचिन को शतकों का बादशाह भी कहा जाता है मगर अपने पहले वनडे शतक के लिए उन्होंने 79 रनों का इंतजार किया था.
  • सचिन के बल्ले का वजन 3.2 पौंड था, तब सचिन विश्व के शीर्ष खिलाड़ी थे और सबसे भारी बल्ले का उपयोग करते थे.
  • सचिन तेंदुलकर एक बार फिल्म ‘राजा’ देखने के लिए भेष बदलकर गए थे लेकिन यहाँ उनका चश्मा गिर गया और लोगों ने उन्हें पहचान लिया.
  • अपने शुरूआती दौर में सचिन को तेज गेंदबाज बनना था, मगर उन्हें यह कहकर वापस भेज दिया था कि तुम्हारी हाइट कम है. ऐसा ही वाकया सौरभ गांगुली के साथ भी हुआ था.

  • सचिन तेंदुलकर एक बार पड़ोसी देश पाकिस्तान के लिए भी फील्डिंग कर चुके हैं. (वन डे प्रैक्टिस मैच-मुंबई का ब्रैबॉर्न स्टेडियम-1988)
  • काउंटी क्रिकेट खेलने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी भी सचिन ही हैं.
  • सचिन ऐसे पहले खिलाड़ी भी बने हैं जिन्हें टीवी अम्पायर द्वारा रन आउट किया गया था.
  • राजीव गांधी खेल रत्न, अर्जुन पुरस्कार, पद्म विभूषण और भारत रत्न से सम्मानित होने वाले सचिन तेंदुलकर एकमात्र खिलाड़ी हैं
  • प्रैक्टिस करते वक्त सचिन टेनिस की गीली बॉल से खेलना पसंद करते थे ताकि यह जान सकें कि गेंद ने बल्ले को कहाँ टच किया है.
  • गाड़ियों के अलावा सचिन को घड़ी और परफ्यूम रखने का भी काफी शौक है.

  • महज 20 की उम्र तक ही सचिन ने टेस्ट क्रिकेट में 5 शतक लगा दिए हैं, यह रिकॉर्ड आज भी सचिन के ही नाम है.
  • दुनिया भर के 90 स्टेडियम में सचिन मैच खेल चुके हैं, यह भी अपने आप में एक रिकॉर्ड है.
  • सचिन तेंदुलकर अपने पिता रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्‍नी के बेटे हैं.
  • सचिन जब बचपन में पूरा सत्र नेट्स में बिना आउट हुए खेलते तो रमाकांत आचरेकर से उन्हें एक सिक्का मिलता था. सचिन के पास आज भी वैसे 13 सिक्के हैं
  • सचिन के दोस्त अतुल रानाडे ने सचिन को उन्हें घुंघराले बालों के कारण लड़की समझ लिया था.
  • विनोद काम्बली को सचिन ने वड़ा पाव खाने के कॉम्पीटीशन में भी कई बार हराया है.
  • वर्ल्ड कप 1999 के दौरान सचिन के पिताजी की मृत्यु हो गई थी. सचिन पिता की अंत्येष्ठी में शामिल होने के बाद मैच खेलने पहुँच गए थे. अगले ही मैच में शतक ठोंककर उन्हें अपने पिता को श्रद्धांजली दी थी.

आज भी देश ही नहीं बल्कि विश्व में सचिन के लाखों-करोड़ों फैंस हैं. बच्चों से लेकर महिलाऐं और बुजुर्ग तक हर वर्ग सचिन के खेल से खुद को गर्वान्वित महसूस करता है. सचिन को ऐसा क्रिकेटर कहा जाता है जिसने क्रिकेट को हर घर तक पहुँचाया है. एक समय वह भी था जब सचिन के आउट होते ही आधा हिंदुस्तान अपने टीवी बंद कर देता था.

Published by Hitesh Songara on 23 Apr 2018

Related Articles

Latest Articles