श्रमिक दिवस पर गूगल ने अपना डूडल किया विश्व के श्रमिकों और कामकाजी लोगों को समर्पित

Get Daily Updates In Email

1 मई को श्रमिक दिवस मनाया जाता है यह दिन केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मनाया जाता है. इसे इंग्लिश में ‘इंटरनेशनल लेबर डे’ कहा जाता है. हर खास मौके की तरह, इस मौके पर भी गूगल ने दुनियाभर के श्रमिकों को याद करते हुए अपना डूडल श्रमिकों और कामकाजी लोगों को समर्पित किया है. इसकी मदद से गूगल श्रमिकों की अहमियत बताना चाह रहा है.

 

ये डूडल बहुत खास लग रहा है. यह डूडल हल्के नीले रंग का है इसमें रबर के ग्लव्स, स्टेटोस्कोप, नट और बोल्ट, सुरक्षा हेलमेट, बैटरी, चम्मच, किताब, पाइप, प्लायर जैसी और भी कई चीज़े शामिल हैं. इस डूडल में सभी क्षेत्र के लोगो से जुड़े उपकरणों को लिया गया है.

courtesy

पूरी दुनिया में आज मजदूरों और कामकाजी लोगों की उपलब्धियों का जश्न मनाते हैं. इस दिवस की शुरुआत साल 1988 से हुई थी. 4 मई 1986 को अमेरिका के एक मजदूर संगठन ने हड़ताल कर दी थी. उनकी मांग थी कि वो दिन में 8 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेगें. इसी हड़ताल के लिए शिकागो में शांतिपूर्वक रैली निकाली जा रही थी. लेकिन इसी बीच शिकागो में एक बम धमाका हुआ और इसी कारण बहुत भगदड़ मच गई पुलिस ने हालत पर नियंत्रण पाने के लिए मजदूरों पर गोली चला दी, जिस कारण मजदूरों की जान चली गयी. इस विस्पोट में 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. इस कांड को हेमाक्रेट नरसंहार के नाम से भी जाना जाता है. जहां ये घटना हुई थी उस चौराहे को 1992 में शिकागो लैंडमार्क का नाम दिया गया.

 

इसके बाद 1989 में यह ऐलान किया गया कि हेमाक्रेट नरसंहार में मारे गए मजदूरों की याद में 1 मई को मजदूर दिवस मनाया जाएगा. भारत में इसकी शुरुआत 1 मई 1923 से हुई. लगभग 80 देशों में आज लेबर डे के मौके पर कामकाजी लोगों और मजदूरों के लिए राष्ट्रीय अवकाश रखा जाता है.

 

Published by admin on 01 May 2018

Related Articles

Latest Articles