सर्वे में हुआ खुलासा : सफ़र के दौरान अंजान लोगों से व्यवहार बनाने और सीट बदलने में भारतीय अव्वल

Get Daily Updates In Email

फ्लाइट में सफ़र के दौरान साथी पैसेंजर के साथ सीट एक्सचेंज करनी हो या उनसे व्यवहार बनाना हो भारतीय पैसेंजर्स दुनिया भर में टॉप में चल रहे हैं. 41% भारतीय अपनी सहूलियत की सीट के लिए किसी को भी अपनी सीट देकर वह सीट ले लेते हैं. ऐसा हम अपनी मर्जी से नहीं बोल रहे हैं. ग्लोबल फ्लाइट एंड होटल एटिकेट ने अपने सालाना सर्वे में यह सभी जानकारी शेयर की है. सर्वे में यह भी बताया गया है कि अपनी बगल की सीट पर बैठे अनजान से बात करने में भारतीय किसी से भी कम नहीं है. 59% भारतीय सफ़र के दौरान किसी भी अंजान पैसेंजर से जान पहचान बना ही लेते हैं. उनके पास बातचीत शुरू करने के लिए सबसे ज्यादा 2 टॉपिक जरुर ही होते हैं. जिनमें से एक राजनीति और दूसरी धार्मिक रहती है.

courtesy

यह सर्वे 23 देशों के 19 हजार लोगों पर किया गया है. ग्लोबल फ्लाइट एंड होटल एटिकेट हर साल अपने सर्वे में अलग-अलग देशों के लोगों के फ्लाइट और होटल से जुड़े व्यवहार और अनुभवों का सर्वे करती है. सीट एक्सचेंज और अनजान लोगों से बात करने के अलावा भारतीय 2 और बातों में टॉप पर हैं. 72% भारतीय सफर के दौरान गाना सुनना पसंद करते हैं. 50% भारतीय इंटरनेशनल फ्लाइट के दौरान पैसे देकर वाईफाई इस्तेमाल करना पसंद करते हैं. फ्लाइट के दौरान 4 बातों से भारतीयों को सबसे ज्यादा समस्या होती है. जब पीछे वाला पैसेंजर सीट पर लात मारता है. जब कोई पेरेंट्स अपने बच्चों पर ध्यान नहीं दे पाते है. जब कोई तेज आवाज में गाना सुने और जब कोई पैसेंजर उनकी सीट पर सो जाए.

courtesy

इस सर्वे में यह बात भी सामने आया है कि 47% लोग अभी भी प्रिंटेड बोर्डिंग का इस्तेमाल करते हैं जबकि 21% लोग डिजिटल फोर्मेट का इस्तेमाल करते हैं. वहीं 32% लोग सतर्कता को बरतते हुए प्रिंट और डिजिटल दोनों फॉर्मेट को साथ लेकर सफ़र करते हैं.

Published by admin on 05 May 2018

Related Articles

Latest Articles