19 दिनों तक स्थिर रहने के बाद एक बार फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के भाव

Get Daily Updates In Email

देश में इन दिनों पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर लोगों में चिंता देखने को मिल रही है. हाल ही की बात करें तो देश की राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में बीते चार दिनों के भीतर ही पेट्रोल की कीमत में 69 पैसे की बढ़ोतरी होते हुए देखी गई है. इसके साथ ही यहाँ पेट्रोल के प्राइस 75.32 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गए हैं जो कि साढ़े चार साल में सबसे उच्चतम स्तर बताया जा रहा है.

इसके पहले सितंबर 2013 के दौरान पेट्रोल की कीमत 76.06 रुपए प्रति लीटर देखने को मिली थी. ऐसा नहीं है कि पेट्रोल और डीजल के दामों में केवल दिल्ली में ही बढ़ोतरी की गई है, बल्कि देश के अन्य हिस्सों में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है. जैसे बात करें कोलकाता की तो यहाँ गुरुवार को पेट्रोल 78.01 रुपए प्रति लीटर, मुंबई में 83.16 रुपए प्रति लीटर और चेन्नई में 78.16 रुपए प्रति लीटर रहा है.

इसके अलावा डीजल की कीमतों के बारे में बताए तो दिल्ली में डीजल 66.79 रुपए प्रति लीटर, कोलकाता में 69.33 रुपए प्रति लीटर, मुंबई में 71.12 रुपए प्रति लीटर और चेन्नई में 70.49 रुपए प्रति लीटर हो गया हैं. डीजल की कीमतों में भी यह अधिकतम स्तर देखा जा रहा है.

पिछले चार दिनों से इंडियन आयल कॉरपोरेशन की तरफ से पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. इससे पहले की बात करें तो 19 दिनों तक तेल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई थी. बताया जा रहा है कि तेल की कीमतों में वृद्धि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में आई तेजी के कारण देखने को मिल रही है.

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में कर्नाटक के विधानसभा चुनाव देखने को मिले हैं. यहाँ 222 में से 104 सीटें जीतकर बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. कर्नाटक के बीजेपी नेता और येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. अब पेट्रोल-डीजल के बढ़ते भावों को देखते हुए यह कहा जा रहा है कि कर्नाटक इलेक्शन के कारण ही तेल के भावों में किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जा रहा था. जबकि अब बढ़ते भाव को देखते हुए यह भी कहा जा रहा है कि तेल के भाव रुक-रुक कर या फिर तेजी से बढ़ाए जा सकते हैं.

Published by Hitesh Songara on 18 May 2018

Related Articles

Latest Articles