हॉरर एक शैली है, जिसे हिंदी सिनेमा ने अभी तक ज्यादा नहीं आजमाया है- तापसी पन्नू

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने साउथ फिल्म इंडस्ट्री के अपने अनुभव साझा करते हुए कहा है कि, ‘बॉलीवुड में हॉरर फिल्मों के क्षेत्र में कुछ खास काम नहीं किया गया है’. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तापसी पन्नू साउथ फिल्म इंडस्ट्री की कुछ हॉरर फिल्मों में काम कर चुकीं हैं. इस पर तापसी का कहना है, ‘मैंने साउथ में दो बेहद सफल हॉरर फिल्मों में काम किया है. साउथ की मेरी आखिरी फिल्म ‘आनंदो ब्रह्मा’ थी, जो एक हॉरर फिल्म है. यह काफी अच्छी रही और ‘कंचना 2′ में भी मैंने वैसा ही काम किया है. मुझे लगता है कि हॉरर एक शैली है, जिसे हिंदी सिनेमा ने अभी तक ज्यादा नहीं आजमाया है.’

courtesy

वहीं बॉलीवुड में हॉरर फिल्मों के बारे में बात करते हुए कहा, ‘मेरे पास स्क्रिप्ट के साथ दो निर्देशक आए, जो इस शैली को जानना चाहते हैं. मुझे लगता है कि हमारे पास हॉरर जैसी चीजों के बारे में बताने के लिए ज्यादा विकल्प नहीं है.’ साउथ फिल्म इंडस्ट्री में काफी समय तक काम कर चुकी तापसी बताती हैं कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के विपरीत, साउथ फिल्म इंडस्ट्री में हॉरर फिल्मों के साथ सबसे ज्यादा एक्सपेरिमेंट किया जाता रहा है.

courtesy

तापसी का मानना है कि, ‘साउथ में हॉरर सबसे सफल शैली है. अगर साउथ की मेरी हॉरर फिल्मों का हिंदी में रिमेक किया जाता तो, मुझे उन फिल्मों में काम करना वाकई काफी अच्छा लगता.’ बताते चलें कि तापसी के पास अभी दमदार कंटेंट वाली दो फ़िल्में हैं एक अनुराग कश्यप की ‘मनमर्जियां’ और दूसरी मल्टी स्टारर फिल्म ‘मुल्क’ इस फिल्म में तापसी एक वकील के किरदार में नजर आने वाली हैं. गौरतलब है कि तापसी की पिछली फिल्म ‘दिल जंगली’ बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई थी. इसलिए उन्हें अपनी आने वाली फिल्मों से काफी उम्मीदें हैं.

Published by admin on 22 May 2018

Related Articles

Latest Articles