10 साल पहले बिग बी ने रखी थी दौलतपुर में कॉलेज की नींव, अब गाँव के लोगों ने ही बनवा लिया कॉलेज

Get Daily Updates In Email

अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के ऐसे अभिनेता हैं जो आए दिन सुर्ख़ियों में बने रहते हैं लेकिन इस बार अपनी फिल्मों को छोडकर वे किसी दूसरी वजह से चर्चा में आए हैं. बता दें करीबन 10 साल पहले साल 2008 में बिग बी बाराबंकी जिले के दौलतपुर गांव पहुंचे थे. जहां उन्होंने गांव के लोगों से वहां कॉलेज खुलवाने का वादा किया था. इस दौरान उनके साथ ऐश्वर्या राय बच्चन, जया बच्चन और अभिषेक बच्चन भी मौजूद थे. गांव पहुंचकर अमिताभ ने करीब दस बीघा जमीन लेकर एक डिग्री कॉलेज का नींव रखी थी. यही नहीं इस कॉलेज का नाम उन्होंने अपनी बहू के नाम पर ऐश्वर्या राय बच्चन कन्या महाविद्यालय रखा था लेकिन इस बात को करीबन 10 साल बीत चुके हैं और अब तक इस जमीन पर कोई काम शुरू नहीं हुआ है.

Courtesy

जिसके बाद दौलतपुर गांव के लोगों ने खुद अपना एक डिग्री कॉलेज बनाने का फैसला लिया और उसके लिए फंड जमा करना भी शुरू कर दिया है. यही नहीं इस कॉलेज का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है और जुलाई से यहां पढ़ाई शुरू भी हो जाएगी. इस कॉलेज को लेकर दिलचस्प बात तो यह है कि गांव वालों ने यह कॉलेज अमिताभ बच्चन के प्लॉट से करीब ही बनाया है.

Courtesy

इस कॉलेज के बनने का श्रेय गांव के सत्यवान शुक्ला को जाता है जोकि पेशे से शिक्षक हैं. सत्यवान ने गांव के लोगों की मदद से पहले जमीन की व्यवस्था की जिसके बाद चंदा लेकर इसका निर्माण कार्य पूरा करवाया. इस कॉलेज का नाम उन्होंने दौलतपुर डिग्री कॉलेज रखा है जिसकी मान्यता उन्होंने डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध यूनिवर्सिटी फैजाबाद से ली है. आने वाले सत्र से यहां बीए और बीएससी की पढ़ाई शुरू हो जाएगी.

Courtesy

कॉलेज को लेकर जब गांव के लोगों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि दस साल पहले जब अमिताभ बच्चन अपने परिवार के साथ यहां आए तो उन्हें लगा कि अब उनका गांव वीवीआईपी बनने वाला है. गांव में हर तरफ लोगों में खुशी थी. उनको लगा कि अब उनके बच्चे ऐश्वर्या राय बच्चन के नाम पर बने कॉलेज में पढ़ेंगे, लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनके सपने हकीकत में नहीं बदलेंगे.

Courtesy

दौलतपुर गांव के प्रधान और अमिताभ बच्चन सेवा संस्थान के सचिव अमित सिंह का कहना है कि अमिताभ बच्चन ने निष्ठा फाउंडेशन को कॉलेज बनाने के लिए दिया था, जिसकी अध्यक्ष जया बच्चन हैं. जब निष्ठा फाउंडेशन ने कॉलेज को नहीं बनाया तो जया बच्चन ने इसको बनाने की जिम्मेदारी अमिताभ बच्चन सेवा संस्थान को दिलवाई. अमित सिंह ने आगे बताया कि, बिग बी को शायद ये लगा कि गांव के लोग उनका सपोर्ट नहीं कर रहे. शुरुआत में गांव के लोग अमिताभ बच्चन के खिलाफ थे और मुकदमेबाजी में फंसा दिया. हालांकि अमित सिंह को अभी भी यह विश्वास है कि अमिताभ यहां कॉलेज बनवाएंगे और जो वादा उन्होंने दौलतपुर की जनता से किया था उसे पूरा करेंगे.

बता दें कि महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने खास दोस्त अमर सिंह के जन्मदिन के दिन पर दौलतपुर में ऐश्वर्या राय बच्चन कन्या महाविद्यालय बनाने का ऐलान किया था.

Published by Chanchala Verma on 23 May 2018

Related Articles

Latest Articles