राजस्थान का एक गांव जहां पत्नी के प्रेग्नेंट होते ही पति कर लेता है दूसरी शादी

Get Daily Updates In Email

क्या कभी आपने ऐसे किसी इलाके के बारे में सुना हैं जहां जब भी कोई महिला प्रेग्नेंट होती है तो उसका पति दूसरी शादी कर लेता है? शायद ही सुना होगा! आपको यह जानकर हैरानी होगी कि राजस्थान के कुछ इलाकों में जब परिवार की एक बहू प्रेग्नेंट होती है तो उसका पति दूसरी शादी कर लेता है. यह सुनकर आप जरूर चौंक गए होंगे कि कोई अपनी पत्नी के प्रेग्नेंट होने पर दूसरी शादी कैसे कर सकता है? पर इससे भी हैरान होने वाली बात यह है कि उन लड़कियों को भी शादी के पहले दिन से यह पता होता है कि यह दिन जरूर आएगा जब उनका पति दूसरी बीवी ले आएगा.

courtesy

राजस्थान के कई इलाकों में यह रिवाज़ है, जहां हर पुरुष को अपनी पत्नी के प्रेग्नेंट होने पर दूसरी शादी कर लेता है. यह प्रथा राजस्थान के बाड़मेर जिले के देरासर गांव की. यहां पानी की बहुत कमी है घर की महिलाओं को पानी भरने के लिए काफी दूर जाना पड़ता है, पानी लाने का यह सफर बिलकुल आसान नहीं होता है इसलिए बचपन से ही लड़कियों को दूर दराज के इलाके से पानी लाने की आदत डाल दी जाती है ताकि वो कुछ सालों में एक साथ दो-चार पानी के घड़े लेकर चल सकें. इस गांव में यह रिवाज इस लिए है क्योंकि प्रेग्नेंट महिला का इतनी दूर पानी लेने जाना बहुत मुमकिन नहीं होगा इसलिए दूसरी शादी की जाती है ताकि यह जवाबदारी दूसरी पत्नी निभाए और साथ ही पहली पत्नी का ख्याल भी रखे.

courtesy

इस गांव के अलावा भारत में और भी कई इलाकों में इस तरह की ‘बहुविवाह’ की परंपरा चली आ रही है. महाराष्ट्र के भी कई इलाकों में पानी की कमी के कारण वहां के पुरुषों को दूसरा विवाह करना पड़ता है. कई गांव ऐसे भी हैं जहां लोग पानी की तलाश में कई गांव का सफर तय करते हैं जिसमें 10-12 घंटे का समय लग जाता है. महाराष्ट्र में ऐसे लगभग 19000 गांव हैं जहां पानी की समस्या है. ऐसे गांवों में दूसरी पत्नियों को ‘वाटर वाइव्स’ और ‘वाटर बाईस’ कह कर सम्बोधित किया जाता है.

courtesy 

एक गांव ऐसा भी है जहां पुरुष तीन शादी भी करते हैंताकि एक पत्नी घर पर बच्चों की देख रेख के साथ घर संभाले और बाकी दो पत्नियां पानी ढूंढ कर लाएं. दूसरी पत्नियां अक्सर विधवा या पहले पति से छोड़ी हुई होती हैं. ऐसे गांवों में होने वाले बहुविवाह को कोई अधिकारी भी नहीं रोक पाते हैं क्योंकि बहुविवाह विवाह पति अपनी पहली या दूसरी पत्नी की मर्जी से ही करता है. सरकार को पानी की सुविधा हल कराने के लिए सही इंतज़ाम करना चाहिए. नहीं तो ना जाने कितनी और इस तरह की प्रथाएं बनती रहेंगी और यह महिलाओं के विकास में बाधा डालती रहेगी.

Published by admin on 25 May 2018

Related Articles

Latest Articles