लव मैरिज के बाद दम्पत्ति ने गोद लिया चुनमुन ‘बन्दर’, सारी संपत्ति भी कर दी उसके नाम

Get Daily Updates In Email

सामान्यतः हम देखते हैं कि माता पिता अपनी प्रॉपर्टी अपने बच्चों के नाम करते हैं. कई लोग इसे डोनेट भी कर लेते हैं. लेकिन अगर आपको पता चले की किसी दंपत्ति ने अपनी सारी जायदाद गोद लिए हुए बंदर के नाम कर दी है तो आप क्या कहेंगे. जी हाँ, यह बिलकुल सत्य घटना हैं. उत्तर प्रदेश के रायबरेली में रहने वाले शाबिस्ता और उनके पति ब्रजेश श्रीवास्तव ने एक बंदर को गोद लिया है.

Courtesy

दरअसल शबिस्ता और ब्रजेश ने लव मैरिज की थी. जिसके बाद उन्हें कोई संतान नहीं हो रही थी. उनका धंधा भी पूरी तरह ठप्प हो गया था. जिसके बाद दोनों बहुत परेशान रहने लगे थे. कुछ समय बाद दोनों ने इस बन्दर को गोद ले लिया था. इस बन्दर के आते ही उनका धंधा बहुत अच्छा चलने लगा था. जिसके बाद उन्होंने प्यार से इसका नाम चुनमुन रख दिया था. चुनमुन के आते ही ब्रजेश का सारा कर्ज उतर गया था और वो मालामाल हो गए थे. इसके साथ ही उनकी पत्नी शाबिस्ता को भी कवियित्री के रूप में पहचान मिलने लगी थी.

Courtesy

शाबिस्ता और ब्रजेश बिलकुल अपने बच्चे की तरह चुनमुन का ख्याल रखते थे. दिन पर दिन दोनों का प्यार गहरा हो रहा था. जिसके बाद उन्होंने चुनमुन की शादी एक बंदरिया से करवा दी थी. बन्दर और बंदरियां की इस जोड़ी के लिए विशेष रूप से 3 कमरे भी बनवाए गए थे. इन कमरों में हीटर और एयर कंडीशनर भी लगा हुआ था. चुनमुन और उसकी बीवी को सारी आरामदायक चीजें दी गई थीं.

 

Courtesy

लम्बा अरसा इस परिवार के साथ गुजारने के बाद चुनमुन का देहांत हो गया था. लेकिन इस दंपत्ति का प्यार उसके लिए कम नहीं हुआ था. उन्होंने अपने घर का नाम तो चुनमुन के नाम पर ही रखा था. बल्कि इसके अलावा उन्होंने इसी नाम से एक संस्था भी बनाई और इसी संस्था के नाम उन्होंने अपनी पूरी जायदाद भी कर दी. इसके साथ ही उन्होंने चुनमुन का मंदिर भी बनवाया है.

Published by admin on 03 Jun 2018

Related Articles

Latest Articles