फादर्स डे स्पेशल : अमिताभ, मुकेश अंबानी सहित इन हस्तियों ने शेयर की पिता से जुड़ी भावनात्मक बातें

Get Daily Updates In Email

किसी भी बच्चे के लिए उसके पिता सर्वोपरि होते हैं. पिता के बिना किसी भी बच्चे के लिए उसके जीवन की कल्पना कर पाना भी मुश्किल है. पिता की सिखाई हुई बातें, उनका दिखाया हुआ रास्ता ही हमें जिंदगी जीने का सलीका सिखाता है और आगे जिंदगी में आने वाले उतार चड़ाव से हमें लड़ने की हिम्मत देता है. आज फादर्स डे के मौके पर हम आपको कुछ नामी हस्तियों और उनके पिता से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं जिनसे हमें बहुत कुछ सिखने को मिलेगा –

1. अमिताभ – हरिवंशराय बच्चन :-

अमिताभ बच्चन अपने पिता को याद करते हुए कहते हैं कि मैं उनके साथ जितना भी समय बिता पाया वो काफी कम था, क्योंकि वे काफी व्यस्त हुआ करते थे. वे काफी सख्त इंसान थे. हमारी बहुत ज्यादा बातचीत नहीं होती थी, समय के साथ रिश्ता और भी ज्यादा मजबूत हो गया लेकिन अभिषेक के साथ मैंने हमेशा एक दोस्त का रिश्ता रखा है, जो आगे भी यूँ ही बरक़रार रहेगा. बाबूजी न जाने क्यों मुझे उनके पिताजी का पुनर्जन्म मानते थे.

Courtesy

2. मुकेश – धीरूभाई अंबानी :-

मुकेश अंबानी कहते हैं कि उनके पिता ने कभी उन्हें किसी काम को करने के लिए दबाव नहीं बनाया. वे कहते हैं धीरूभाईअंबानी आज भी हमारे दिलों में जिंदा हैं. यह उन्ही के कारण हुआ है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज एक कर्मचारी से बढ़कर आज ढाई लाख से अधिक कर्मचारियों की, एक हजार रुपए से बढ़कर 6 लाख करोड़ रुपए से अधिक की तथा एकमात्र शहर से बढ़कर 28 हजार शहरों और 4 लाख से अधिक गांवों की कंपनी बन सकी है.

Courtesy

3. संजीव-आरपी गोयनका :-

अपने पिता के बारे में संजीव कहते हैं, ‘इस संसार में एक सुप्रसिद्ध, लब्धप्रतिष्ठित और लक्ष्मीपुत्र की संतान होने से अच्छा सौभाग्य क्या हो सकता है.’ वे आगे कहते हैं, ‘मेरे पिताजी असाधारण व्यवसायी थे. उन्होंने अपनी प्रतिभा, दूरदर्शिता और ईश्वर प्रदत्त शक्ति के बल पर अपने साम्राज्य से व्यवसाय एवं परिवार की संपत्ति को एक साम्राज्य में बदल दिया.

4. रतन टाटा-जेआरडी टाटा :-

अपने पिता के बारे में रतन टाटा कहते हैं. हमारे संबंध इतने अच्छे थे कि मैं उनके ऑफिस में जाता था और उनसे कहता था- जे, काश यह 10 साल पहले हो गया होता. तब वे जवाब देते -‘मैं भी यह सोचता हूँ. वे मेरे ग्रेटेस्ट मेंटर थे. मैं किस्मतवाला था कि वे वहां थे. वे एक पिता की तरह थे, भाई की तरह थे.’

 

Courtesy

5. दीपिका-प्रकाश पादुकोण :-

दीपिका कहती हैं वे उनके पिता की लिटिर गर्ल के साथ ही सपोर्ट सिस्टम दोनों हैं. वे कहती हैं, ‘कभी हम एक दूसरे से हंसी मजाक करते हैं तो कभी एक-दूसरे की टांग खिचाई करते हैं. वे बचपन में काफी सख्त थे. एक एथलीट होने के कारण वे अलग तरह के डीएनए से बने थे. उन्होंने हमें गाइड किया लेकिन कभी अपनी सलाह नहीं थोपी. वे बहुत छोटी छोटी बातों का ध्यान रखते हैं. अपने पिता को लेकर दीपिका कहती हैं, ‘उन्होंने मेरे प्रोफेशनल काम में कभी दखल देने की कोशिश नहीं की. उन्हें भरोसा है कि मेरी चॉइस हमेशा सही ही होगी.

Courtesy

दीपिका बताती हैं कि उनके पिता उनकी सभी फ़िल्में देखते हैं.

 

 

Published by Chanchala Verma on 17 Jun 2018

Related Articles

Latest Articles