सुषमा स्वराज से गुहार लगाने के बाद हिन्दू-मुस्लिम कपल ‘तन्वी और अनस’ को मिला पासपोर्ट

Get Daily Updates In Email

लखनऊ के एक हिन्दू-मुस्लिम कपल ने 19 जून को पासपोर्ट के लिए अप्लाए किया था. अपॉइंटमेंट लेने के बाद वो पासपोर्ट कार्यालय भी गए थे. यहां अनस अपने पासपोर्ट को दोबारा इशू करवाने पहुंचे थे और तन्वी के लिए नया पासपोर्ट बनवाना था. इस दौरान दोनों के साथ वहां अच्छा व्यव्हार नहीं हुआ था. जिसके चलते उन्होंने ट्वीट करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से कंप्लेंट की है.

इस कपल का कहना है कि, पासपोर्ट ऑफिस में उन्हें शर्मिंदा और अपमानित किया गया था. तन्वी ने शादी के बाद अपना नाम नहीं बदला है. जिसके चलते उन्हें पासपोर्ट नहीं दिया जा रहा था. बता दें कि मोहम्मद अनस सिद्दीक़ी और तन्वी की शादी साल 2007 में हो गई थी. तन्वी का आरोप है कि पासपोर्ट अफसर ने उन्हें धर्म भी बदलने को कहा था. इसके साथ ही शिकायत के एक दिन बाद सम्बंधित अधिकारी का तबादला कर दिया गया है.

जिसके साथ ही अब यह कपल बहुत खुश है. क्योंकि उन्हें अब पासपोर्ट मिल चुका है. गुरुवार को इस कपल ने प्रेस कांफ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी है. अनस ने कहा था कि, ‘अधिकारी ने मुझसे कल कहा था कि आप अपना धर्म परिवर्तन कीजिए और नाम बदलिए. गौ मंत्र पढ़िए और फेरे लीजिए. तब उसके बाद हो पाएगा.’ जिसके चलते वो बहुत अपमानित महसूस कर रहे थे.

इतना ही नहीं अनस ने अधिकारी की और भी बातें बताई. उन्होंने कहा कि, ‘अधिकारी ने तन्वी से कहा कि उसे शादी नहीं करनी चाहिए था. मेरी पत्नी रोने लगी. इसके बाद अधिकारी ने तन्वी को कहा कि वह सभी डॉक्यूमेंट्स में अपना नाम बदलकर आए.’ इसके अलावा तन्वी कहती है कि, ‘अधिकारी ने ना सिर्फ मुझे पासपोर्ट नहीं दिया, बल्कि पति का भी पासपोर्ट रोक दिया. यह मेरा खुद का फैसला है कि मैं शादी के बाद कौन सा नाम रखूं. पासपोर्ट ऑफिस में एक अन्य अधिकारी ने पति को बताया कि अगर यह केस उनके पास आता है तो कोई दिक्कत नहीं होती, क्योंकि सभी डॉक्यूमेंट मौजूद थे. शादी के पिछले 12 साल में मुझे कभी इतना अपमानित महसूस नहीं करना पड़ा.’

Published by admin on 21 Jun 2018

Related Articles

Latest Articles