उड़ान के दौरान पायलट को पड़ा दिल का दौरा, फिर भी सुरक्षित लैंडिंग कराके बचाई सब की जान

Get Daily Updates In Email

जरा सोचिए कि जिस पायलट के भरोसे आप इतनी ऊंचाई पर सफर कर रहे हों और उसी को हार्ट अटैक आ जाए तो क्या होगा. जी हां, हाल ही में बिलकुल ऐसा ही वाकया हुआ है पश्चिम बंगाल में. वहां इंफाल से कोलकाता आ रही इंडिगो एयरलाइंस के फ्लाइट के चीफ पायलट को उड़ान के समय ही दिल का दौरा पड़ गया. लेकिन असहनीय दर्द होने के बाद भी पायलट ने सभी यात्रियों एवं खुद की जान बचाई है.

courtesy

यह वाक्या शनिवार का है जब इंडिगो एयरलाइन के 63 साल के चीफ पायलट सिल्वियो डियाज अकोस्टा कोलकाता के नेता सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अपने विमान को लैंड कराने ही वाले थे और तभी अचानक उनके सीने में दर्द शुरू होने लगा. उनका दर्द धीरे-धीरे बढ़ता गया और इस कारण उनकी बॉडी पसीने से तर हो गई. इसी दौरान सिल्वियो ने सीने में दर्द की परेशानी अपने को-पायलट को भी बताई. चीफ ने खुद को संभालते हुए अपने को-पायलट की मदद से फ्लाइट की सुरक्षित लैंडिंग कराई. इसके तुरंत बाद सिल्वियो को तुरंत एयरपोर्ट के मेडिकल डिपार्टमेंट में ले जाया गया.

courtesy

एयरपोर्ट मेडिकल डिपार्टमेंट में ईसीजी कराने के बाद पता चला की चीफ पायलट की हालत बहुत गंभीर है जिसके बाद उन्हें सीधे हॉस्पिटल ले जाया गया. हॉस्पिटल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर सत्रजीत समंता ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि, ‘उनकी (चीफ पायलट) हालत काफी गंभीर थी और उन्हें तुरंत इमरजेन्सी वॉर्ड ले जाया गया था. ईसीजी रिपोर्ट के मुताबिक उनके सीने में दर्द की वजह हार्ट अटैक थी. ऐसा तब होता है जब दिल की तरफ जाने वाली नसों में रक्त का संचार एक दम कम या फिर पूरी तरह रुक जाता है.’

courtesy

चीफ पायलट सिल्वियो डियाज अकोस्टा का इलाज कर रहे डॉक्टर्स का कहना है कि, यह एक मुश्किल काम था, जिसका नतीजा किसी चमत्कार से कम नहीं था. अकोस्टा के केस में कुछ चुनौतियां भी आई, जिसकी वजह से उन्हें दो बार इलेक्ट्रिक शॉक देना पड़ा. इस हालत में भी उन्होंने सुरक्षित लैंडिंग करा दी यह किसी चमत्कार जैसा ही है.’ फिलहाल अकोस्टा पहले से ठीक हैं उन्हें अभी ऑब्जरवेशन में रखा गया है.

Published by admin on 27 Jun 2018

Related Articles

Latest Articles