अपने करियर में कभी भी सुनील गावस्कर ने नहीं पहना हेलमेट, बताते हैं उनसे जुड़ी खास बातें

Get Daily Updates In Email

क्रिकेट की दुनिया में भारत का नाम रोशन करने वाले पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर आज अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं. 22 साल की उम्र से सुनील ने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी. क्रिकेट वर्ल्ड में लिटिल मास्टर की उपाधि पाने वाले गावस्कर पहले क्रिकेटर हैं. तो चलिए आपको बताते हैं गावस्कर के जन्मदिन पर उनसे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें –

Courtesy

6 मार्च 1971 में गावस्कर ने अपना पहला मैच खेला था. जो कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ था. उस समय वेस्टइंडीज ताकतवर टीम थी. इस मैच की दोनों पारियों में गावस्कर ने अर्धशतक लगाए और भारत को पहली बार वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत दिलाई. गावस्कर के बारे में दिलचस्प बात यह है कि पहली पारी में जब गावस्कर बल्लेबाजी करने उतरे तो उन्होंने 2 रन लिए. गावस्कर के ये दो रन उनके बल्ले से नहीं बल्कि उनके पैड से गेंद टकराने की वजह से मिले थे. जिसके बाद गावस्कर हैरान रह गए क्योंकि अंपायर ने इसे लेग बाई नहीं दिया. इन बातों का खुलासा उन्होंने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘सनी डेज’ में किया है.

Courtesy

सुनील गावस्कर ने जिस समय अपने करियर की शुरुआत की उस समय वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शीर्ष पर थे. उनके सामने टिक पाना बेहद मुश्किल था. ऐसे में सुनील गावस्कर का बिना हेलमेट के इन गेंदबाजों का सामना करना बहुत बड़ी बात है. बता दें अपने करियर में कभी भी गावस्कर ने हेलमेट का प्रयोग नहीं किया. इसी के चलते गावस्कर का सम्मान आज तक किया जाता है.

Courtesy

सुनील ने टेस्ट मैच में 34 शतक लगाने और वनडे मैचों में उन्होंने सिर्फ एक शतक साल 1987 के विश्वकप में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया था. बता दें इस मैच से पहले जिम्बॉब्वे के खिलाफ धीरे बल्लेबाजी करने की वजह से उनकी जमकर आलोचना भी हुई थी. न्यूजीलैंड के खिलाफ चल रहे मैच में गावस्कर ने महज 88 गेंदों पर 103 रन बनाए थे. यह बहुत कम लोग ही जानते है कि इस मैच के दौरान गावस्कर को 102 डिग्री बुखार था. इस पारी के लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ दिया गया था.

Courtesy

इसके अलावा गावस्कर ने डॉन ब्रेडमैन के 29 शतकों के रिकॉर्ड को भी तोड़ा था. इसके रिकॉर्ड के साथ ही गावस्कर ने केवल सबसे ज्यादा टेस्ट शतक लगाए बल्कि सबसे ज्यादा 10000 टेस्ट रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. गावस्कर साल 1987 में रिटायर हुए और उस समय तक कोई भी बल्लेबाज उनके इस रिकॉर्ड के आस-पास भी नहीं था. लेकिन कुछ समय के बाद सचिन तेंदुलकर ने यह रिकॉर्ड तोड़ दिया.

Courtesy

आज भी गावस्कर अपने क्रिकेट वर्ल्ड में दिए योगदान के लिए सम्मानित किए जाते हैं.

Published by Chanchala Verma on 10 Jul 2018

Related Articles

Latest Articles