संजय की बहन नम्रता ने देखी ‘संजू’, कहा- ‘बहुत मुश्किल है मां-पापा का रोल निभाना’

Get Daily Updates In Email

रणबीर कपूर स्टारर ‘संजू’ को दर्शकों और फिल्म क्रिटिक्स द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है.फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी जबरदस्त कमाई कर रही है. फिल्म कमाई के कई रिकॉर्ड बना रही है राजकुमार हिरानी की इस फिल्म ने उन्हीं की फिल्म के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. इस फिल्म में सभी लोग रणबीर से लेकर सभी स्टार्स की तारीफ़ कर रहे हैं. फिल्म में सभी स्टार्स ने संजय दत्त से जुड़े सभी किरदारों को निभाने के लिए बहुत मेहनत की है. आम जनता से लेकर सेलिब्रिटीस भी इस फिल्म की तारीफ़ करते हुए नहीं थक रहे हैं. हाल ही में संजय दत्त की बहन नम्रता ने ‘संजू’ को लेकर एक इंटरव्यू में बात की.

🌟🌟🌟🌟🌟 5/5 almost make me cry 😢, one of the best films I have seen, and it’s true story #sanju #film #biography #bollywood

A post shared by 👑King Âwad✊ (@abdula_104) on

नम्रता को ‘संजू’ बहुत अच्छी लगी. इस बारे में उन्होंने इंटरव्यू में बताते हुए कहा कि, ‘मैंने फिल्म देखी, इस फिल्म में संजय की जिंदगी के कई हिस्से दिखाए गए हैं. इन हिस्सों से परिवार का गहरा कनेक्शन है. मेरे लिए फिल्म पर कमेंट करना आसान नहीं है लेकिन फिर भी मैं ये जरूर कहूंगी कि रणबीर ने भाई की बायोपिक में बहुत अच्छा काम किया है. फिल्म में संजू के ड्रग, जेल से जुड़े कई बड़े हिस्से दिखाए गए हैं. उस दौरान पापा संजू के साथ हमेशा खड़े रहे. वो दौर पापा के लिए बहुत मुश्किल था.’

courtesy

नम्रता को फिल्म संजू तो अच्छी लगी लेकिन वो फिर भी फिल्म में नरगिस और सुनील दत्त के किरदार से वो ज्यादा खुश नहीं हैं. इस बारे में उन्होंने कहा कि ‘मेरे पापा का किरादार कोई नहीं निभा सकता है. वो मेरे लिए और हमारे पर‍िवार के लिए बहुत खास हैं. बहुत मुश्किल है मां-पापा का रोल निभाना. दोनों ही आइकॉनिक रोल हैं. लेकिन दर्शकों को फिल्म में दोनों किरदार पसंद आए यह सबसे अच्छी बात है.’

courtesy

संजू के दोस्तों के बारे में उन्होंने बताया कि, ‘संजू के बहुत कम अच्छे दोस्त रहे हैं. ऐसे में फिल्म में विक्की कौशल का किरदार एक दोस्त का नहीं कई दोस्तों के किरदार से मिलकर बना है.’ वहीं संजू की असल जिंदगी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘संजय में समय के साथ बहुत बदलाव आए हैं. हमने बहुत बुरा वक्त साथ देखा है. संजू का जेल जाना हमारे परिवार के लिए सबसे बड़ा इमोशनल ट्रामा था. लेकिन जब संजय आजाद हुआ तब पापा दुनिया में नहीं थे. वो बहुत खुश होते आज संजय को नॉर्मल और आजाद देखकर.’

Published by admin on 12 Jul 2018

Related Articles

Latest Articles