बैंक यूनियन को नहीं पसंद आया अमिताभ-श्वेता का आभूषण कंपनी का ऐड

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन अपनी हर एक पोस्ट के लिए चर्चा में आते रहते हैं. लेकिन इन दिनों वे अपने एक ऐड को लेकर चर्चा में बने हुए हैं जिसमें उनके साथ उनकी बेटी श्वेता नन्दा भी नजर आ रही हैं. पहली बार श्वेता किसी ऐड में नजर आई हैं. इस ऐड वीडियो को बिग बी ने ही अपने फेसबुक अकाउंट से शेयर किया था. लेकिन अब उनका यह ऐड उनके लिए मुसीबत बनता नजर आ रहे हैं. बता दें इस ऐड में वे केरल की आभूषण कंपनी के लिए शूट करते नजर आ रहे हैं. जिसमें यह दिखाया गया है कि बैंक उनकी आलोचना कर रहा है. इस ऐड को देखने एक बाद यूनियन ने इसे घृणित बताते हुए कहा कि इस विज्ञापन का मकसद बैंक प्रणाली में अविश्वास पैदा करना है.

Kalyan

FB 2070 – Emotional moment for me .. tears welling up every time I see it …. Daughters be the BEST !!

Gepostet von Amitabh Bachchan am Dienstag, 17. Juli 2018

यही नहीं ऑल इंडिया बैंक आफिसर्स कान्फेडरेशन ने विज्ञापनदाता आभूषण कंपनी कल्याण ज्वेलर्स के खिलाफ मुकदमा दायर करने की चेतावनी भी दी है. संगठन ने कंपनी पर विज्ञापन के जरिए लाखों कर्मचारियों की भावना को आहत करने का आरोप लगाया है. आईबीओसी के महासचिव सौम्य दत्ता ने आरोप लगाया कि विज्ञापन का जो विचार और लहजा दिखाया गया और इसका जो तात्पर्य है, वह घृणित और अपमाजनक है. इसका मकसद वाणिज्यिक लाभ के लिये बैंक प्रणाली में अविश्वास पैदा करना है.

इसके जवाब में इन आरोपों के खिलाफ कल्याण ज्वेलर्स ने कहा कि यह पूरी तरह कल्पना पर आधारित है. कल्याण ज्वेलर्स ने दत्त को पत्र लिखा है जिसमे उन्होंने लिखा है , ‘… यह पूरी तरह काल्पनिक है और हमारा बैंक अधिकारियों को अपमानित करने का कोई इरादा नहीं है.’

कंपनी का कहना है कि इससे पहले विज्ञापन से पहले उद्घोषणा भी की गयी है. जिसमें कहा गया था कि किसी व्यक्ति या समुदाय के सम्मान को ठेस पहुंचाने का कोई इरादा नहीं है. विज्ञापन में बच्चन एक बुजुर्ग के किरदार में हैं और श्वेता नंदा उनकी बेटी बनी हैं. इसमें उस बुजर्ग व्यक्ति (अभिनेता बच्चन) को एक ईमानदार व्यक्ति के रूप में दर्शाया गया है जो अपने पेंशन खाते में आए अतिरिक्त धन को लौटाने बैंक जाता है. उसकी बेटी भी उसके साथ जाती है. वहां बैंक कर्मचारियों ने उस व्यक्ति के साथ कटु व्यवहार किया. दत्ता ने आगे कहा कि, विज्ञापन में बैंक की गलत तस्वीर पेश की गई है और लाखों कर्मचारियों की भावना को आहत किया गया है जो निदंनीय है.

उन्होंने यह भी कहा है कि, ‘हम इसे सभी बैंकों की मानहानि का मामला मानते हैं.’ इस मामले को लेकर एआईबीओसी ने आभूषण कंपनी से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की है. उसने कहा कि अगर विज्ञापन वापस नहीं लिया जाता है, उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी.

Published by Chanchala Verma on 19 Jul 2018

Related Articles

Latest Articles