इस वर्ष 27 जुलाई को होने जा रहा है सदी का सबसे बड़ा चन्द्र ग्रहण

Get Daily Updates In Email

सूर्यग्रहण और चन्द्रग्रहण जैसी चीजों से सभी डरते हैं. कहा जाता है कि इस दौरान कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए. वहीं गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशु के लिए इसे खतरनाक माना जाता है. बता दें इस सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण इस वर्ष की गुरु पूर्णिमा यानि 27 जुलाई की देर रात को घटित हो रहा है. जिसका समय 27 जुलाई को रात 11.54 पर होगा, जबकि इसका समापन 28 जुलाई की सुबह 03.54 पर है.

वहीं कई सालों से ग्रहण के पश्चात दान की परंपरा चलती आ रही है. आटा, गेहूँ, गुड़, वस्त्र, रसीले फल जैसी दान देने के लिए उत्तम माने गए हैं. संपत्ति विवाद से मुक्ति के लिए तिल के मिष्ठान, मान-सम्मान के लिए सूखी मिठाइयां, तात्कालिक आर्थिक कष्ट को दूर करने के लिए रस वाले मीठे पदार्थ, रोग से मुक्ति के लिए घी से भरे चांदी के टुकड़े युक्त कांसे के कटोरे में अपनी छाया देखकर दान, संकट से मुक्ति के लिए ग्रहण के बाद की सुबह को चींटियों और मछलियों को भोजन अर्पित करने से शुभ और आशाजनक परिणाम प्राप्त होता है, ऐसा पारंपरिक अवधारणाएं कहती हैं.

Lunar Eclipse’s, like the one this July, occur during a Full Moon, when the Moon is at one Node and Sun is at the other causing the Earth, in between, to block the sunlight from the Moon. When there is a Lunar Eclipse, both Nodes are equally activated, pulling on our energy, leaving us feeling torn apart between our past and our future. If we can observe and understand this feeling, though, we can simultaneously shut the door on our lower vibratory South Node energies, while integrating the energies of our North Node. This transition is a the opportunity afforded to us each Lunar Eclipse. Opposing signs are two sides of the same coin. They often don’t understand each other because their expression of the energies is different, but at their core they are the same. Pisces (I am Pisces Moon) and Virgo (I am Virgo Rising), for example, both have the fundamental energy of healing, both are sensitive to outside energies and both have a psychic sense to them. They express these energies very differently, but there in lies the challenge- how to integrate them into a unified whole made of their higher vibratory states. This is the challenge and the opportunity each Lunar Eclipse holds for us. During an Eclipse Season there is great room for growth, expansion and continued evolution. Each Eclipse opens a portal for us to step through and on the other side we are a at different point on our Nodal Path. Eclipses speed up our evolution and an Eclipse Season often brings us serendipitous events that fuel the process of shifting from South to North Node. The energy of the Eclipse Season can feel intense, we often have to face things in our life that aren’t comfortable but are meant to continue and further us on our journey. On the flip side, patterns and limiting beliefs that have been holding us back, can shift in an instant due to the cosmic energy supporting us in leaving behind these lower vibrations. During this Eclipse Season think about what holds you back and what thoughts and behaviors you are addicted to from you South Node’s influence. Become more aware of you comfort zones and what triggers you to run back to them. (Cont.)

A post shared by Brianne 'Breezy' Cummins (@whiskey_vixen) on

अलग-अलग राशियों पर भी इस ग्रहण का अलग- अलग प्रभाव होता है. इस बार चन्द्र ग्रहण मकर राशि के लिए शुभ नहीं है.

बता दें कि चन्द्र ग्रहण एक खगोलीय घटना है. जब सूर्य व चन्द्रमा के बीच पृथ्वी इस प्रकार से आ जाती है कि पृथ्वी की छाया से चन्द्रमा का पूरा या आंशिक भाग ढंक जाता है. जब इस स्थिति में पृथ्वी सूर्य की किरणों के चन्द्रमा तक पहुँचने में अवरोध लगा देती है तो पृथ्वी के उस हिस्से में चन्द्र ग्रहण नज़र आता है. इस ज्यामितीय प्रतिबंध के कारण चन्द्र ग्रहण केवल पूर्णिमा की रात्रि को घटित हो सकता है. चन्द्रमा और सूर्य के बीच में पृथ्वी के आ जाने की खगोलीय घटना को ही चन्द्र ग्रहण कहते हैं.

Published by admin on 24 Jul 2018

Related Articles

Latest Articles