59 की उम्र में फिर से पढ़ाई करने निकल पड़े उदयपुर ग्रामीण के विधायक फूल सिंह मीणा

Get Daily Updates In Email

आज पढ़ाई का महत्व बहुत ज्यादा हैं. जिसके चलते सरकार ने भी बच्चों को पढ़ाने के लिए कई तरह की स्कीम निकली है. ऐसे ही राजस्थान के फूल सिंह मीणा भी अपने कसबे की लड़कियों को पढ़ाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं. यहां तक कि लोगों को प्रेरित करने के लिए उन्होंने भी 59 की उम्र में पढ़ाई शुरू कर दी है.

Courtesy

फूल सिंह हमेशा दूसरों को पढ़ने के फायदे बताया करते थे, लेकिन खुद के कम पढ़े होने का एहसास मन को सदा कचोटता था. वह अपनी बेटियों को पढ़ता देखकर तसल्ली कर लेते थे, लेकिन फिर उन्हीं बेटियों की प्रेरणा से भाजपा के एक विधायक ने बचपन में छूटी अपनी पढ़ाई की डोर को पचपन साल की उम्र में फिर से थाम लिया. जी हाँ, राजस्थान के उदयपुर ग्रामीण से भाजपा विधायक फूल सिंह मीणा ने क्षेत्र की बालिकाओं को शिक्षित करने की मुहिम चलाई और फिर अपनी पांच शिक्षित बेटियों के कहने पर खुद भी दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई पूरी की. अब वह स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं.

Courtesy

फूल सिंह मीणा ने कहा कि सेना में कार्यरत पिता की मौत के बाद परिवार की जिम्मेदारी ​के बोझ के चलते उन्होंने मजबूरी में पढ़ाई छोड दी थी. जिसके बाद उन्होंने खेती बाड़ी का काम शुरू कर दिया था. उन्होंने बताया कि वर्ष 2013 में राजनीति में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ मुहिम के तहत आदिवासी क्षेत्र की बालिकाओं को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया और एससी वर्ग की बालिकाओं को प्रोत्साहित करने के लिए माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक परीक्षा में 80 प्रतिशत से अधिक अंक लाने पर विधायक कोष से उदयपुर से जयपुर की हवाई यात्रा करवाने की घोषणा की थी.

Courtesy

उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में दो छात्राओं के 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर उन्हें निशुल्क हवाई यात्रा कराई गई, जबकि 2017 में छह छात्राओं को निशुल्क हवाई यात्रा के साथ साथ मुख्यमंत्री सहित मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों से मुलाकात और विधानसभा भवन का भ्रमण करवाया गया. मीणा का कहना है कि इस योजना के शुरूआती परिणाम बहुत उत्साहवर्द्धक हैं और अब इलाके में लड़कियों की शिक्षा के स्तर में सुधार आने लगा है. अब उन्होंने इस योजना का दायरा एससी वर्ग की बालिकाओं से बढ़ा कर सामान्य वर्ग कर दिया है और घोषणा की है कि इस वर्ष उनके विधानसभा क्षेत्र से किसी भी वर्ग की बालिका यदि 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करेगी तो उसे निशुल्क हवाई यात्रा करवाई जायेगी.

Published by admin on 25 Jul 2018

Related Articles

Latest Articles