फिल्मों के जरिए भारतीय सिनेमा में बदलाव लाना चाहते हैं जॉन अब्राहम

Get Daily Updates In Email

भारतीय सिनेमा में अपनी दमदार एक्टिंग और बॉडी की बदौलत नाम कमाने वाले अभिनेता जॉन अब्राहम ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में कहा कि, ‘वो भारतीय सिनेमा में बदलाव लाना चाहते हैं.’ बतौर मॉडल अपने करियर की शुरुआत करने वाले जॉन अब्राहम ने अपने लुक्स और एक्टिंग के दम पर सभी को अपना दीवाना बना लिया है. मॉडल से अभिनेता और निर्माता बने जॉन ने साबित कर दिया है कि वह बॉडी और ब्रेन का परफेक्ट कॉम्बिनेशन हैं.

courtsey

जॉन ने पहले भी अपने प्रोडक्शन हाउस “जे ए फिल्म्स” के बैनर तले बनी फिल्म “विक्की डोनर” में सोशल मैसज दिया था. जिसमें लीड रोल आयुष्मान खुराना ने अदा किया था. हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म “परमाणु-द स्टोरी आफ पोखरण” में भी जॉन ने पोखरण परमाणु परिक्षण जैसे मुद्दे को उठाया था.

जॉन ने हाल ही में मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में बताया,”‘परमाणु’ के प्रचार के लिए हमारे पास सिर्फ पांच दिन थे और फिल्म के इतने दिनों तक सिनेमाघरों में बने रहने पर मैं वास्तव में बहुत खुश हूं. फिल्म ने रुपए के साथ सम्मान भी कमाया. बतौर निर्माता-अभिनेता मैं वास्तव में भारतीय सिनेमा में बदलाव लाना चाहता हूं, जिससे लोगों में वह विश्वास आ सके की वे मेरे बैनर ‘जेए फिल्म्स’ की फिल्म को देखने सिनेमाघर तक जाकर अपना समय और पैसा खर्च करें.”

courtsey

यह पूछे जाने पर कि क्या इसी कारण से वह सोशल मैसेज देने वाली फिल्में कर दर्शको का ध्यान अपनी और लाना चाहते हैं? तो इस पर जॉन ने कहा कि,”हां, मैं इससे सहमत हूं. लोग हर समय मुझे बोलते हैं कि फिल्म में मैं कितना अच्छा दिख रहा था. लेकिन बतौर कलाकार, मुझे वे फिल्में नहीं मिल रही थीं जो मैं करना चाहता था. इसीलिए मैंने निर्माता बनने का फैसला किया.”

जॉन की पिछली फिल्म उनकी फिल्म परमाणु-द स्टोरी आफ पोखरण” बॉक्स ऑफिस पर काफी हिट साबित भी हुई थी. अब इसके बाद जॉन की एक और फिल्म “सत्यमेव जयते” इस स्वत्रंतता दिवस पर रिलीज़ के लिए तैयार है.

Published by Yash Sharma on 05 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles