फिल्मों में आने से पहले पेन बेचते थे जॉनी लीवर, सुनील दत्त ने दिया था पहला चांस

Get Daily Updates In Email

फिल्म इंडस्ट्री के कॉमेडी किंग कहे जाने वाले जॉनी लीवर किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं. उनके मिमिक्री करने के अंदाज और उनके लाजवाब अभिनय से उन्होंने हर दिल में अपनी एक अमिट छाप छोड़ी है. उन्होंने अपना यह मुकाम अपनी लगन, मेहनत और जज्बे से बनाया है. हास्य कला के बेताज बादशाह आज अपना 61 वां जन्मदिन मना रहे हैं.

courtesy

हास्य अभिनेता जॉनी लीवर का पूरा नाम जॉन प्रकाश राव जनुमाला है. जॉनी लीवर का जन्म 14 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में हुआ था. जॉनी लीवर ने 1984 में सुजाता से शादी की थी. उनके एक बेटी और एक बेटा है. उनकी बेटी जैमी भी उन्ही तरह एक स्टैंडअप कॉमेडियन है. परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण लीवर ज्यादा शिक्षा हासिल नहीं कर पाए और 7 वीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़कर मुम्बई की गलियों में पेन बेचने का काम भी किया.

courtesy

जॉनी सड़कों पर अलग-अलग फ़िल्मी कलाकारों की मिमिक्री किया करते थे. उसके बाद हैदराबाद जाकर जॉनी ने हास्य अभिनय में महारत हासिल की. वहां जाने के बाद स्टेज शो पर अपनी कला का प्रदर्शन करने का मौका मिला. वहीं पर उनकी मुलाकात सुनील दत्त से हुई. सुनील दत्त ने जॉनी को फिल्म ‘दर्द का रिश्ता में’ काम करने का मौका दिया. ‘दर्द का रिश्ता’ के बाद वह ‘जलवा’ में नसीरूद्दीन शाह के साथ देखे गए, लेकिन उनकी पहली बड़ी सफलता ‘बाजीगर’ के साथ शुरू हुई.

courtesy

जॉनी लीवर ने अभी तक लगभग 350 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय किया है. जॉनी ने अपनी कला के अदभुत प्रदर्शन से लगभग हर फिल्म में दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया है. उन्होंने अपने पूरे करियर में अपने अभिनय के दम पर कई फिल्म अवार्ड अपने नाम किए हैं. सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता के लिए स्टार सिने अवार्ड (राजा हिंदुस्तानी), 1998 में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता अवार्ड (दीवाना मस्ताना), 1999 में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता अवार्ड (दूल्हे राजा), 2002 में सर्वश्रेष्ठ जी सिने अवार्ड (लव के लिए कुछ करेगा) जैसे अवार्ड्स से उन्हें सम्मानित किया गया है.

Published by Yash Sharma on 14 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles