आज मनाया जा रहा है देश का 72वां स्वतंत्रता दिवस, बताते हैं आपको इस दिन से जुड़ी खास बातें

Get Daily Updates In Email

आज यानि 15 अगस्त को हम अपने देश का 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं. इसी दिन साल 1947 को भारत को अंग्रेजों की गुलामी से 190 साल बाद आजादी मिली थी. लगभग 200 साल के बाद भारत खुद एक स्वतंत्र गणराज्य बना था. स्वतंत्रता के बाद भारत के पास अपने देश का खुद का राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रीय गान था. भारत के राष्ट्रीय ध्वज को ‘तिरंगे’ के नाम से भी जाना जाता है. इसे ‘तिरंगा’ इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह तीन रंगों से मिलकर बना हुआ है.

courtesy

राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान देश के प्रत्येक नागरिक द्वारा किया जाता है. तिरंगे को प्रति वर्ष स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के लाल किले से बड़े आदर और सम्मान के साथ फहराया जाता है. इसके साथ ही इसे 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है और सेना द्वारा इसका सम्मान किया जाता है. राष्ट्रीय ध्वज की साइज़ का अनुपात 2:3 का होता है.

courtesy

भारत के राष्ट्रीय ध्वज को बनाने का श्रेय श्री पिंगली वेंकैया को जाता है. जिन्होंने भारत के राष्ट्रीय ध्वज को डिजाईन किया था. इसे भारत ने 22 जुलाई 1947 को देश के राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनाया था. इसमें तीन तरह के कलर की पट्टियां होती है और बीच वाली पट्टी पर एक चक्र बना होता है जिसे सारनाथ के अशोक स्तंभ से लिया गया है. जिसे हम अशोक चक्र के नाम से जानते हैं. तीन रंगों की पट्टियों में सबसे पहले ऊपर की ओर केसरिया रंग की पट्टी आती है जिसके बाद सफ़ेद और फिर अंत में हरे रंग की पट्टी आती है. सफ़ेद कलर की पट्टी पर ही अशोक चक्र होता है जिसमें 24 लाइन्स होती हैं.

courtesy

तिरंगे में बने तीनो रंग अपनी-अपनी विशेषताओं को प्रदर्शित करते हैं. केसरियां रंग जैन और बौध जैसे धर्मो के लिए धार्मिक महत्व रखते हैं. यह रंग लोगों के बीच एकता का प्रतीक भी माना जाता है. साथ ही यह रंग हमें राजनैतिक नेतृत्व के बारे में भी याद दिलाता है. इसके बाद सफ़ेद रंग हमें शांति और ईमानदारी की राह पर चलने का सन्देश देता है. सफ़ेद रंग हमे सच्चाई का साथ देने की सीख भी देता है. और तिरंगे के सबसे नीचे स्थित हरा रंग जो की प्रकृति और हरियाली को दर्शाता है. हरा रंग विश्वास, उर्वरता, खुशहाली, समृद्धि और प्रगति का प्रतीक कहलाता है.

Published by Yash Sharma on 15 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles