‘कभी-कभी’ गाने के साथ ही फिल्म ‘तीसरी कसम’ से भी रहा अटल बिहारी वाजपेयी का खास लगाव

Get Daily Updates In Email

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एक ऐसी शख्सियत रहे जिनका जीवन निर्विवाद रहा. अपने कार्यकाल में अटल बिहारी वाजपेयी पर व्यक्तिगत किसी भी प्रकार का आरोप नहीं लगा. राजनीति में रहने के साथ-साथ उनका साहित्य, कविताओं और फिल्मों से भी खास नाता रहा था. वाजपेयी जी लिखने-पढ़ने के अलावा फिल्म देखना भी पसंद करते थे.

courtesy

अटल बिहारी वाजपेयी हमेशा से अभिनेत्री हेमा मालिनी के बहुत बड़े प्रशंसक रहे थे. उन्हें हेमा मालिनी की 1972 में आई फिल्म ‘सीता और गीता’ इतनी पसंद आई थी कि उन्होंने इस फिल्म को 25 बार देखा था. इस बात का खुलासा खुद हेमा मालिनी ने किया था. ‘सीता और गीता’ के अलावा अटल बिहारी का फिल्म ‘तीसरी कसम’ से भी खास जुड़ाव रहा.

courtesy

प्रसिद्ध साहित्यकार फणीश्वर नाथ रेणु की चर्चित कहानी मारे गए गुलफाम पर बनी फिल्म ‘तीसरी कसम’ फिल्म 1966 में आई थी. इस अनोखी प्रेम कहानी में अभिनय मशहूर अभिनेता राजकपूर और अभिनेत्री वहीदा रहमान ने किया था. और इस प्रेम कहानी को कृतिकार फणीश्वर नाथ रेणु ने लिखा था. यह फिल्म हिंदी सिनेमा में मील का पत्थर जाती है.

बासु भट्टाचार्य के निर्देशन में बनी इस फिल्म के निर्माता सुप्रसिद्ध गीतकार शैलेन्द्र थे. अभिनय और निर्देशन की नजर से यह फिल्म बेजोड़ थी, साथ ही इसमें कलाकारों का अभिनय भी सभी को बहुत पसंद आया. इसीके चलते 1967 में ‘राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार’ में इसे सर्वश्रेष्ठ हिंदी फीचर फिल्म का पुरस्कार दिया गया. सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि सब कुछ सादगी से दर्शाया गया था और यही सादगी अटल बिहारी वाजपेयी को पसंद आई थी. और इस कारण ही यह फिल्म उनकी पसंदीदा फिल्मों में से एक थी.

courtesy

इसके अलावा अटल बिहारी वाजपेयी को ‘देवदास’ और ‘बंदिनी’ फिल्म भी बहुत पसंद थी. इन फिल्मों के अलावा अटल बिहारी वाजपेयी जी को साल 1976 में आई फिल्म ‘कभी कभी’ में अभिनेता अमिताभ बच्चन और राखी पर फिल्माया गाना ‘कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है’ भी बहुत पसंद था, यह गाना उनके दिल के काफी करीब था.

Published by Yash Sharma on 17 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles