एशियन गेम्स 2018: मेंस टीम के लाजवाब प्रदर्शन ने भारत को दिलाया रोइंग में पहला गोल्ड

Get Daily Updates In Email

एशियन गेम्स 2018 में शुरुआत से ही भारत की स्थिति काफी मजबूत दिखाई दे रही है. देखने को मिल रहा है कि 18वें एशियाई खेलों में छठे दिन देश की तरफ से रोइंग में खिलाड़ियों का अच्छा प्रदर्शन रहा है. और इसके साथ ही देश ने अब तक तीन मेडल अपने नाम किए हैं. जी हाँ, मेंस टीम के द्वारा गोल्ड मेडल की जीत के साथ ही देश को रोइंग में एशियन गेम्स 2018 का पहला गोल्ड मेडल दिया है.

बता दें कि क्वाड्रूपुल स्कल्स स्पर्धा में सवर्ण सिंह, दत्तू भोकानल, ओमप्रकाश व सुखमीत सिंह ने महज 6 मिनट और 17 सेकंड के टाइम में ही फर्स्ट प्लेस पर जगह बनाई. जबकि पुरुष लाइटवेट सिंगल्स में दुष्यंत ने ब्रोंज मेडल अपने नाम किया. दुष्यंत ने 7 मिनट और 18 सेकंड के समय में इस मेडल को जीता है.

वहीँ इसके कुछ देर बाद ही लाइटवेट डबल स्कल्स में रोहित कुमार और भगवान सिंह ने भी ब्रोंज हासिल किया. दोनों खिलाड़ियों को इस मेडल को हासिल करने में 7 मिनट और 4 सेकंड का समय लगा. वहीँ बात करें मेडल्स की संख्या की तो 5 गोल्ड के साथ ही यह संख्या 21 पर पहुँच गई है.

एशियन गेम्स 2018 में दुष्यंत के बारे में बात करें तो यह उनका दूसरा ब्रोंज है. इससे पहले वे वर्ष 2014 के दौरान एक ब्रोंज अपने नाम कर चुके हैं. वहीँ अन्य सेगमेंट में चलने तो तैराकी के हीट राउंड में भारत के संदीप सेजवाल ने छठा स्थान हासिल किया है और इसके साथ ही फाइनल में भी अपनी जगह पक्की कर ली है. जबकि कॉमनवेल्थ गेम्स में हीना सिद्धू और मनु भाकर ने फाइनल राउंड में जगह बना ली है.

उम्मीदों के इस सिलसिले में एथलीट दीपा कर्माकर का नाम भी शामिल है. अब तक दीपा कुछ खास नहीं कर पाई हैं लेकिन आज वे बीम बैलेंस इवेंट में हिस्सा लेने वाली हैं. इस इवेंट से लोगों को काफी उम्मीदें भी दीपा से रहने वाली हैं. वहीँ बैडमिंटन में किदांबी श्रीकांत राउंड ऑफ 32 में हॉन्गकॉन्ग के वॉन्ग विंग आपस में भिड़ने वाले हैं.

Published by Hitesh Songara on 24 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles