11 साल पहले वृद्धाश्रम में मिली थीं रिश्तेदारों के यहां गई दादी, अब जाकर आई पूरी बात सामने

Get Daily Updates In Email

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक फोटो खूब वायरल हो रहा है, जिसमें एक दादी और पोती को दिखाया जा रहा है. इस फोटो में एक बूढ़ी महिला और एक बच्ची स्कूल ड्रेस में नजर आ रही है. और दोनों इस फोटो में रोते हुए दिखाए दे रहे हैं. इस फोटो को समाज सेविका और महिलाओं के हक के लिए लड़ाई लड़ने वाली अनिता चौहान ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर शेयर किया है.

उनके यह फोटो अपलोड करते ही यह सोशल साइट्स पर खूब वायरल हो गया है. उन्होंने यह फोटो अपलोड करते हुए लिखा कि, ‘एक स्कूल ने अपने यहां पढ़ने वाले बच्चों के लिए वृद्धाश्रम का टूर आयोजित किया. और इस लड़की ने अपनी दादी को वहां देखा. दरअसल जब इस बच्ची ने अपने माता-पिता से दादी के बारे में पूछा था तो उसे बताया गया था कि, वो अपने रिश्तेदार के यहां रहने गई हैं. ये किस तरह का समाज बना रहे हैं हम?’  फोटो पर 50 हज़ार से ज्यादा लाइक और 22 हजार से ज्यादा शेयर हो चुके हैं. इस फोटो को भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी इस फोटो को शेयर किया है.

दरअसल ये फोटो आज का नहीं बल्कि 11 वर्ष पुराना है. हुआ ये था कि पोती जिसका नाम भक्ति पांचाल है. वह अपने स्कूल की तरफ से वृद्धा आश्रम गई थी वहां अचानक उसकी मुलाकात उसकी दादी से हो जाती है. तो वह अपनी दादी को देखकर उनसे लिपटकर रोने लग जाती है. असल में भक्ति ने अपने माता-पिता से कई बार अपनी दादी के बारे में पूछा था लेकिन उन्होंने हर उसकी बात को टाल कर उसे बोला की दादी किसी के रिश्तेदार के यहां गई है. लेकिन असल में उन्होंने दादी दमयंती बेन को वृद्धा आश्रम में छोड़ दिया था.

courtesy

लेकिन खबरों में खुलासा हुआ कि वायरल हो रही फोटो को एक एग्जीबिशन में लगाया गया था. वहीं पोती भक्ति पांचाल ने बताया कि बा दमयंति बेन पांचाल उस वक्त अपनी मर्जी से यहां आई थीं. बेटा उन्हें वापस लेने आया भी था लेकिन वह वापस घर नहीं लौटी. आज भी वह वृद्धाश्रम में ही रहती हैं. पोती भक्ति उनसे मिलने वृद्धाश्रम जाती रहती हैं.

Published by Yash Sharma on 24 Aug 2018

Related Articles

Latest Articles