‘चलते चलते’ के रीमेक को लेकर बोलीं लता मंगेशकर -‘गाने की मूल धून और शब्दों को बदलना ठीक नहीं’

Get Daily Updates In Email

भारत की मशहूर सिंगर और भारतरत्न लता मंगेशकर हमेशा से ही पुराने गानों के बने नए वर्जन को लेकर काफी नाराज रहती है. वह नहीं चाहतीं की किसी भी पुराने गाने का रीमिक्स वर्ज़न बने. इस बारे में वह हमेशा आवाज़ उठाती रहती हैं. इस बार भी ऐसा ही कुछ हुआ है जिस कारण वह पाकिस्तानी सिंगर आतिफ असलम से नाराज हो गई हैं.

हाल ही में जैकी भगनानी की फिल्म ‘मित्रों’ का नया गाना ‘चलते-चलते’ रिलीज़ हुआ जिसे आतिफ असलम ने गाया है और तनिष्क ने इस गाने का संगीत दिया है. यह गाना फिल्म ‘पाकीजा’ का नया वर्ज़न है. फिल्म ‘पाकीजा’ में मशहूर अदाकारा मीना कुमारी ने मुख्य भूमिका निभाई थी. जब लता से इस नए गाने को लेकर पूछा गया कि आतिफ असलम की आवाज में उन्हें यह गाना कैसा लगा तो लता दीदी को गुस्सा आ गया.

courtesy

लता दीदी ने कहा कि न तो उन्होंने यह गाना अब तक सुना है और न ही सुनना चाहती हैं. आजकल जो पुराने गानों को फिर से बनाने का रिवाज है उससे वह बेहद दुःखी हो जाती हैं. दीदी सवाल करते हुए कहती हैं, ‘आजकल जो गानें रीमिक्स किए जा रहे हैं उनमें सादगी कहां है? कलाकारी कहां है? गाने को रीमिक्स बनाने के दौरान उसका संगीत और गीत किसकी सहमति से बदला जाता है?’. लताजी आगे कहती हैं कि, ‘गाने को बनाने वाले ऑरिजिनल कंपोजर और गीतकारों ने जो भी लिखा और बनाया था वह उनकी अपनी कलाकारी थी. किसी को अधिकार नहीं की उनकी कलाकारी को बदले.’

courtesy

वह आगे बताती हैं कि, ‘गाने की मूल धुन को बिगाड़ना शब्दों में मनचाहा परिवर्तन करना या फिर नए और सस्ते शब्द जोड़ना इस तरह की बेतुकी हरकतें देख और सुनकर सचमुच मुझे बेहद पीड़ा होती है. किसी गीत को उसके मूल स्वरूप में पेश करना अच्छी बात है. ऐसा करने से मूल गीत की सुंदरता और उसका अर्थ कायम रहेगा. नई पीढ़ी को ऐसे गीत जरूर पसंद आएंगे’. बता दें कि ऐसा माना जा रहा है कि इस नए गाने के कंपोजर और फिल्म के प्रोड्यूसर ने बिना उनकी अनुमति के ही इस गाने को रिक्रिएट किया है.

Published by Yash Sharma on 05 Sep 2018

Related Articles

Latest Articles