रॉयल एनफील्ड बुलेट खरीदने का मन बना रहे हैं तो पहले जान लीजिए इस बाइक के बारे में खास बातें

Get Daily Updates In Email

आज के समय में बाइक तो आपने ने बहुत सी देखी होंगी और चलाई भी होंगी लेकिन जो मजा रॉयल एनफील्ड की बुलेट चलाने में है वो भला किसी और बाइक में कंहा. यदि हम कहे कि बुलेट बनाने वाली कंपनी राॅयल एनफील्ड ने जब से बुलेट का निर्माण किया है तब से ही इन बाइक्स ने लोगों के दिलों में एक खास जगह बना ली है तो गलत नहीं होगा.

courtesy

राॅयल एनफील्ड की बुलेट हर कोई तो नहीं खरीद नहीं पाता क्योंकि बाइक की कीमत बहुत ज्यादा होती है. इसके वाबजूद बुलेट आज की युवा की पहली पंसद बनी हुई है. शायद यही वजह है कि आज भारतीय बजार में इस बाइक की बिक्री दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है. वैसे तो राॅयल एनफील्ड कई तरह की बुलेट बजार में पेश करता है. लेकिन सबसे ज्यादा मांग अभी 350cc सेगमेंट की है.

courtesy

जी हाँ! अगर आप भी रॉयल एनफील्ड की बुलेट खरीदने का सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल गलत सोच रहे हैं? तो चलिए इस खबर में हम आपको बताते हैं कि आखिर आप गलत क्यों सोच रहे हैं.

सबसे पहले तो आपको बता दें कि, लंबी दूरी के लिए रॉयल एनफील्ड की बाइक्स काफी पॉपुलर साबित होती हैं, लेकिन इसकी स्पीड को लेकर कुछ दिक्कतें भी सामने आती हैं. इसलिए याद रहे अगर आपको बाइक से लम्बा सफर तय करना होता है तो बुलेट को खरीदने से पहले एक बार और सोच लीजिए.

courtesy

रॉयल एनफील्ड बुलेट का ज्यादा से ज्यादा माइलेज 40 किमी प्रति लीटर होता है. ऐसे में अगर आप ज्यादा माइलेज के बारे में सोच रहे हैं तो आपके लिए यह बाइक बेहतर साबित नहीं हो सकती. अभी तक रॉयल एनफील्ड की बुलेट क्लासिक 350 और बुलेट में ABS शामिल नहीं किया गया. इतना ही नहीं आपको रियर डिस्क ब्रेक की कमी भी महसूस होगी.

courtesy

रॉयल एनफील्ड की बाइक्स के डिजाइन और फीचर्स सदियों पुरानी परंपरा के अनुसार ही चल रहे हैं. इसी वजह से आपको इसमें सभी मॉडर्न फीचर्स नहीं मिलेंगे. रॉयल एनफील्ड की बाइक्स का वजन काफी ज्यादा रहता है. इनमें बुलेट 350 का वजन 180 किलोग्राम और बुलेट 500 का 193 किलोग्राम है. ऐसे में कम वजन वाले लोगों के लिए इन बाइक्स को ट्रैफिक में संभालना काफी मुश्किल हो जाता है. अगर कभी आपकी बाइक का टायर पंक्चर हो जाए या खराब हो जाए. तो ऐसे में अकेला इंसान इस बाइक को खींचना में काफी परेशान हो सकता है.

Published by Lakhan Sen on 14 Sep 2018

Related Articles

Latest Articles