मिनीषा लांबा ने किया थिएटर की ओर रुख, ‘मिरर मिरर’ नाटक में आईं नजर

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस मिनीषा लांबा इन दिनों इंडस्ट्री से दूर हैं. जिसके बाद अब एक्ट्रेस ने थिएटर की ओर रुख कर लिया है. जी हां, मिनीषा ने ‘मिरर मिरर’ नाम का एकल नाटक किया है जिसमें उन्होंने 13 किरदार निभाए हैं. ‘मिरर मिरर’ 75 मिनट का नाटक है. जिसमें 2 जुड़वां बच्चों की कहानी को दिखाया गया है.

थिएटर में आने को लेकर मिनीषा ने माना कि थिएटर की दुनिया में उनका आना ऐसे समय पर हुआ जब ‘बहुत कुछ हो नहीं रहा था.’ लेकिन, थिएटर उन्हें काफी मुश्किल लग रहा था. मिनीषा लांबा ने आगे कहा, ‘हालांकि, यह भूमिका मेरी गोद में आकर गिरी लेकिन मैं पूरी तरह सोच में पड़ गई कि यह तो थिएटर है. तब निर्देशक सैफ हैदर हसन ने मुझे कहा कि यह अभिनय है और आप एक अभिनेत्री हैं. बस यह माध्यम अलग है.’

आगे मिनीषा ने कहा, ‘जब सैफ सर कहानी सुना रहे थे, मुझे यह बहुत पसंद आई लेकिन काम काफी मुश्किल लगा. मैंने उसी समय यह नाटक करने का फैसला किया क्योंकि मुझे लगा कि अगर मैंने घर जाकर सोचा तो शायद मेरा मन बदल जाए.’

मिनिषा से जब पूछा गया कि नाटक में 13 किरदारों को निभाने के लिए उन्होंने किस तरह से तैयारी की तो इसके जवाब में मिनीषा ने कहा, ‘यह किरदार मेरे पास आर्गेनिक रूप से आए. बच्चे का किरदार निभाना आसान था क्योंकि बच्चों का व्यवहार सामान्य होता है. हालांकि, एक पुरुष की आवाज निकालना मुश्किल काम था.’

इस नाटक में ज्यादातर भाई-बहन की नोकझोंक दिखाई गई है. जिसमें दिखाया गया है कि कैसे एक महिला के शरीर को सामाजिक व्यवस्था अपने नियंत्रण में रखती है. आगे मिनीषा ने कहा, ‘मैं ऐसी कई महिलाओं को जानती हूं जो अभी बच्चे नहीं चाहतीं. वह अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना चाहती हैं और उन्हें इसके लिए शर्मिदा होने की जरूरत नहीं.’

आगे एक्ट्रेस ने नाटक की फेवरेट लाइन भी बताई. एक्ट्रेस ने कहा, ‘मुझे नाटक की यह लाइन बहुत पसंद है कि, ‘मुझे उम्मीद है कि कोई इसे स्वीकार करेगा, मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए.’ यह लाइनें शहरों में काम कर रहीं युवा महिलाओं की भावनाओं को प्रतिबिन्दित करती हैं.’

Published by Chanchala Verma on 23 Sep 2018

Related Articles

Latest Articles