KBC-10 में पद्मश्री विनर समाजसेवी सुधा वर्गीज ने बताई अपनी ‘साइकिल वाली दीदी’ बनने की कहानी

Get Daily Updates In Email

KBC-10 की शुरुआत से ही दर्शकों की पसंद बना हुआ है. इस शो का हर एपिसोड दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है. अब तक शो में कई कंटेस्टेंट्स ऐसे आए हैं जिन्होंने अपने अलग अंदाज से सभी का दिल जीत लिया है…लेकिन हाल ही में शो में एक ऐसी कंटेस्टेंट आईं जिनका पूरा जीवन हमें प्रेरणा देता है… जी हाँ, हम बात कर रहे हैं पद्म श्री अवॉर्ड विजेता सुधा वर्गीज की जो कि इस बार बिग बी के सामने हॉट सीट पर बैठी नजर आईं.

View this post on Instagram

It felt amazing to be on #KBC10 and sit in front of a legend. I was scared that I wouldn’t get the answers but luckily I did and I hope I made my parents proud: @varundvn 😍♥who was on the show with #SudhaVarghese, a social worker Read . . . . #varunaics #varundhawanfans #varunalia #varundhawan #varun_dhawan #like4likes #instalikes #100likes #200likes #likes4like #likeme #likeagirl #follow4like #folow #followmeto #followme #followyournola #followforlikes#bollywood #followforafollow#followforfollowback #followyou#follow4followback #followersindonesia #like4follow#فارون_دهاوان

A post shared by ✨MANALVARUNDHAWAN◄ೋღ♥ღೋ► (@super_star_varun_dhawan) on

बता दें सुधा वर्गीज लोगों के बीच ‘साइकिल वाली दीदी’ के नाम से जानी जाती हैं. उनका खुद का ‘नारी गुंजन’ नाम का एक संगठन है. शो में वे अपनी दो शिष्याओं के साथ पहुंचीं. सभी ने मिलकर शो में सुधा वर्गीज के ‘साइकिल वाली दीदी’ बनने की कहानी को बताया. सुधा वर्गीज के साथ आई उनकी शिष्य लालमति ने मुसहर समुदाय में भेदभाव और अशिक्षा के बारे में बताया. उसने कहा कि वह आज जो कुछ भी है सुधा दीदी के कारण है. महिला सशक्तीकरण और लड़कियों की शिक्षा के प्रति सुधा वर्गीज के काम को अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने भी सराहा.

सुधा ने बताया कि एक समय पर वह रोजाना 40 किलोमीटर साइकल चलाया करती थीं. अपने संगठन के बारे में सुधा ने बताया कि यह संगठन छोटी बच्चियों को पढ़ाने के लिए काम करता है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि केबीसी में जीती हुई रकम को वह ‘नारी गुंजन’ में ही खर्च करेंगी.

Courtesy

शो में सुधा के साथ उनकी मदद के लिए वरुण धवन और अनुष्का शर्मा भी पहुंचे थे. जिनकी मदद से सुधा 25 लाख रुपए जीत पाईं. सुधा ने बताया कि जमीनी स्तर पर काम करने में उन्हें बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. सुधा वर्गीज ने बताया कि मुसहर महिलाएं जो शराब बनाकर जीवन यापन करती थीं इस बारे में उनमें जागरुकता लाई. उनके हक के लिए थाने से लेकर सड़क पर उतरी. जिसके बाद वरुण ने भी एक ऐसे संगठन के बारे में बताते हैं जो महिलाओं की सुरक्षा के लिए काम करता है.

Courtesy

शो के दौरान ही घरेलू हिंसा को लेकर भी बातचीत की गई. 5 सितम्बर को सुधा का जन्मदिन था और सेट पर ही उनका बर्थडे केक भी कटवाया गया. शो के आखिर में सुधा के ‘नारी गुंजन बैंड’ ने अमिताभ की फिल्म का गाना ‘मेरे अंगने में’ बजाता जिसे वहां मौजूद गेस्ट्स और दर्शकों को काफी पसंद किया.

Published by Chanchala Verma on 23 Sep 2018

Related Articles

Latest Articles