गुजरात में महात्मा गांधी के कुछ खास स्थान, जहां आज भी हैं उनके जीवन से जुड़ी यादें

Get Daily Updates In Email

भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. 2 अक्टूबर को जन्मे गांधी को आज भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया नमन करती है. उन्हें भारत की आज़ादी का जनक माना जाता हैं. उन्होंने अहिंसा और धर्म के सहारे ही देश को अंग्रेजों की गुलामी से आज़ाद कर दम लिया था. अनेक यातनाओं और कुर्बानियों को सहने के बावजूद भी वह अपने आन्दोलन से नहीं भटके थे.

courtesy

गांधी का जन्म गुजरात के पोरबंदर में हुआ था और आज भी उनकी जन्मस्थली पर मंदिर बना हुआ है. गुजरात में ऐसी कई जगहें हैं जहां उनके बारे में कुछ ना कुछ जानने को मिल सकता है. उनके जीवन की कईं सारी यादें गुजरात के कईं स्थानों पर देखने को मिल जाती है. ऐसे ही कुछ स्थानों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं.

courtesy

1. कीर्ति मंदिर, पोरबंदर

महात्मा गांधी की जन्मस्थली पर ही यह मंदिर बना हुआ है. यह गांधी जी के पूर्वजों का घर था. लेकिन इसे अब एक म्यूजियम के तौर पर बदल दिया गया है. 1950 में सरदार वल्लभ भाई पटेल ने इस कीर्ति मंदिर मेमोरियल का उद्घाटन किया था. इसमें गांधी जी के जीवन से जुड़े दुर्लभ दस्तावेज और सामान रखे हैं. यहां कई किताबें भी रखी हैं जो या तो महात्मा गांधी ने खुद लिखी हैं या उनपर लिखी गई हैं.

courtesy

2. मोहनदस गाँधी हाईस्कूल, राजकोट

पहले इस स्कूल का नाम राजकोट हाईस्कूल था लेकिन अब इस स्कूल का नाम बदलकर मोहनदास गांधी हाईस्कूल कर दिया गया है. इसी स्कूल से महात्मा गांधी ने अपनी पढ़ाई पूरी की थी. गांधी के समय में इसे राजकोट हाई स्कूल कहते थे. आज जो बिल्डिंग यहां स्थित है उसका निर्माण 1907 में अंग्रेजों ने करवाया था उस समय इसे अलफ्रेड हाई स्कूल कहा जाता था.

courtesy

3. बारदोली

यह स्थान सूरत से 30 किलोमीटर दूरी पर है. यही स्थान से गांधी ने अपने सत्याग्रह की शुरुआत की थी. यहां स्थित आश्रम महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी कईं घटनाओं का गवाह रहा है. यहां स्वराज आश्रम म्यूजियम और बारटॉन लाइब्रेरी है. गांधी जी के जीवन को समझने और जानने के लिए हजारो की संख्या में यहा पर्यटक आते हैं.

courtesy

4. दांडी

यहां से महात्मा गांधी ने नमक सत्याग्रह और दांडी मार्च की शुरुआत की थी. साबरमती से लेकर दांडी तक के जिस रास्ते से यह जुलूस निकला था वह अब ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण हो गया है. दांडी में इन पर्यटकों के लिए घूमने के लिए कई अन्य स्थान भी है. दांडी का समुद्र तट पर्यटन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है.

Published by Yash Sharma on 02 Oct 2018

Related Articles

Latest Articles