43 साल पूरे होने पर रखी गई दिव्यांग बच्चों के लिए ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘शोले’ की स्पेशल स्क्रीनिंग

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर सुपरहिट फिल्म ‘शोले’ को भारतीय दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया जाता है. फिल्म की जितनी तारीफ की जाए उतनी ही कम है. फिल्म के सारे किरदार आज भी लोगों के जहन में ताजा हैं. वहीं फिल्म के डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं. जय-वीरू की जोड़ी और गब्बर-साम्बा के किरदार आज भी मशहूर हैं. फिल्म में अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र, हेमा मालिनी, संजीव कुमार, अमजद खान जैसे सुपरस्टार थे. फिल्म का डायरेक्शन रमेश सिप्पी ने किया था.

courtesy

वर्ष 1975 में आई सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और धर्मेन्द्र अभिनीत फिल्म ‘शोले’ बॉलीवुड की सबसे यादगार फिल्म है. लेकिन भारतीय दर्शकों में कुछ ऐसे दर्शक हैं जिन्होंने अभी तक यह फिल्म नहीं देखी होगी. ऐसे में शनिवार को सिरी फोर्ट ऑडिटोरियम में सदी की महान फिल्म शोले को एक हजार ऐसे बच्चों के लिए सुनाया गया जो देखने में असमर्थ हैं. यह स्पेशल स्क्रीनिंग फिल्म के 43 साल पूरे किए जाने के अवसर पर की गई.

courtesy

सक्षम ट्रस्ट द्वारा यह स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गई थी. जिसमें कुछ दिव्यांग बच्चों को यह फिल्म देखने का मौका मिला. सक्षम ट्रस्ट के आयोजकों के मुताबिक शनिवार को सीरीफोर्ट ऑडिटोरियम में दृष्टिबाधितों के लिए जहां ऑडियो वर्जन में फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई.  वहीं बधिरों के लिए सबटाइटल के साथ फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई थी. सक्षम ट्रस्ट एक गैर-लाभकारी संगठन है जो दृष्टिबाधितों की शिक्षा, पुनर्वास और कल्याण के लिए काम करता है.

courtesy

दिल्ली एनसीआर के तकरीबन सभी सरकारी और एनजीओ से जुड़े दृष्टिबाधित बच्चों के लिए इस फिल्म को स्पेशल ऑडियो, शीर्षक और उपशीर्षक के साथ सुनाया गया. सपंत के समर्थन के साथ ट्रस्ट और फिल्म फेस्ट के निदेशालय ने शोले की स्क्रीनिंग का आयोजन किया. ट्रस्ट ने अब तक 28 बॉलीवुड फिल्मों का ऑडियो-वर्णन किया है और शिक्षा, सहायक प्रौद्योगिकी समाधान और समावेशी मनोरंजन के क्षेत्र में उनके प्रयासों के लिए 2015 में उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.  साउंड आर्टिस्ट और नरेश जोशी ने शोले का ऑडियो एक्सप्रेस किया है.

Published by Yash Sharma on 03 Oct 2018

Related Articles

Latest Articles