Youth Olympic : ओलंपिक स्तर पर पदक जीतने वाली पहली जुडोका बनीं तबाबी देवी

Get Daily Updates In Email

यूथ ओलंपिक गेम्स (Youth Olympic Games) में भारत का लगातार अच्छा प्रदर्शन चल रहा है. अभी तक भारत ओलंपिक स्तर पर सीनियर या जूनियर स्तर पर जूडो में कोई भी पदक नहीं हासिल कर पाया था लेकिन अब ऐसा नहीं रहा है. दरअसल अभी हाल ही में थांगजाम तबाबी देवी (Thangjam Tababy Devi) ने तीसरे यूथ ओलंपिक में महिलाओं की 44 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीत लिया है. इसी के साथ भारत अब ओलंपिक स्तर पर सीनियर-जूनियर स्तर जूडो में पदक हासिल करने वाला देश बन गया है.

courtesy

वहीं थांगजाम तबाबी देवी यह पदक जीतने वाली देश की पहली महिला बन गई हैं. तबाबी देवी ने यह पदक 44 किग्रा वर्ग में में जीता है. अगर हम बात करें इस वर्ग के स्वर्ण पदक की तो इस वर्ग का स्वर्ण पदक वेनेजुएला की मारिया गिमिनेज (Maria Gimenez) ने जीता है. मारिया ने यह पदक तबाबी को 10-0 से हराकर अपने नाम किया.

courtesy

मणिपुर की रहने वाली तबाबी की उम्र अभी सिर्फ 16 साल है. खास बात तो यह है कि तबाबी कैडेट वर्ग में एशियाई चैम्पियन रह चुकी हैं. जानकारी के लिए आपको बता दें कि तबाबी ने सेमीफाइनल में क्रोएशिया की एना विक्तोरिजा पुलजिज (Ana Vitorioria Puljies) को 10-0 से हराया था. इसके पहले उन्होंने प्री-क्वार्टर फाइनल में 10-0 से भूटान की यांगचेन वांगमो परास्त किया था.

courtesy

वहीं क्वार्टर फाइनल में तबाबी ने कोसोवो की इरजा मुमिनोविक को हरा कर अपनी जगह बनाई थी. थांगजाम तबाबी देवी द्वारा पदक जीते जाने के बाद अब यूथ ओलिंपिक गेम्स में भारत के पास कुल दो पदक हो गए हैं. पहला पदक यूथ ओलिंपिक गेम्स में तुषार माने ने जीता था और दूसरा पदक अभी हाल ही में तबाबी ने अपने नाम किया.

courtesy

यूथ ओलिंपिक में भारत की तरफ से 47 एथलीट्स (Athletes) भाग ले रहे हैं. यह पहली बार है जब देश से इतने एथलीट्स ने यूथ ओलिंपिक में भाग लिया है. बतातें चले कि यूथ ओलिंपिक गेम्स की मेजबानी अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा की जाती है. यूथ ओलिंपिक गेम्स एक तरह से अंतर्राष्ट्रीय मल्टी-स्पोर्ट कार्यक्रम है जिसका हर चार साल में आयोजन किया जाता है. ख़ास तौर पर इन खेलों का आयोजन गर्मी या फिर सर्दी में किया जाता  हैं.

Published by Lakhan Sen on 09 Oct 2018

Related Articles

Latest Articles