दीपावली के दिन होती है श्री गणेश और माता लक्ष्मी की आराधना, होता है खास महत्व

Get Daily Updates In Email

दीपावली का त्यौहार खुशियों और आपसी प्रेम का त्यौहार होता है. हिन्दू ही नहीं बल्कि हर धर्म हर समाज वर्ग के लोग इसे बड़ी धूम-धाम से मनाते हैं. इस दिन लोग ख़ुशी-ख़ुशी अपने इष्ट देवता और ख़ासकर माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं. लोग इस दिन विशेष परिधान पहन कर और विधिवत विधि से माता की पूजा करते हैं. आइए जानते हैं दीपावली पर क्यों की जाती है माता लक्ष्मी और गणेशजी की पूजा.

courtesy

मां लक्ष्मी को धन-धान्य की देवी माना जाता है और दीपावली के दिन कार्तिक अमावस्या को घर की सुख-शांति और वैभव के लिए ही माता की आराधना की जाती है. मां लक्ष्मी की आराधना से ऐश्वर्य और धन सम्पदा में वृद्धि होती है. इससे पहले शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी का जन्मदिवस मनाया जाता है. और उसके बाद दीपावली के दिन माता लक्ष्मी की आराधना कर उनसे सुख-सम्पति का वर मांगा जाता है.

courtesy

इसी के साथ दीपावली के दिन भगवान गणेश की आराधना करना भी शुभ माना जाता है. भगवान गणेश को बुद्धि का देवता भी कहा जाता है. और वहीं हिन्दू मान्यता के अनुसार हर शुभ काम से पहले भगवान गणेश की आराधना करने का प्रावधान माना गया है. इसीलिए भी गणेश की पूजा की जाती है. धन की देवी लक्ष्मी से धन सम्पदा का वर मांगने के बाद गणेश से बुद्धि का वर मांगा जाता है. ताकि धन का सही तरीके से उपयोग किया जा सके. इसी प्रार्थना के साथ भगवान गणेश की आराधना की जाती है.

courtesy

दीपावली के त्यौहार का धर्मिक महत्व यह भी है कि कार्तिक अमावस्या के 15 दिन पूर्व पूर्णिमा पर माता लक्ष्मी का जन्मदिवस मनाया जाता है. इसी दिन माता लक्ष्मी समुद्र मंथन से प्रकट हुई थीं. हालांकि अमावस्या की रात कालरात्रि से संबंधित होती है जो कि मां दुर्गा का एक रूप होता है. लेकिन बदलते दौर में और वर्तमान समय में दीपावली पूजा पर लक्ष्मी जी को महत्वता देनी जाने लगी. बता दें इस पांच दिनों तक चलने वाले त्यौहार की शुरुआत 5 अक्टूबर से होगी और मुख्य त्यौहार 7 अक्टूबर को मनाया जाएगा.

Published by Yash Sharma on 26 Oct 2018

Related Articles

Latest Articles