मशहूर गायिका अनुराधा पौडवाल हुईं 66 की, जीत चुकी हैं 3 फिल्मफेयर समेत 1 नेशनल अवार्ड

Get Daily Updates In Email

मशहूर गायिका अनुराधा पौडवाल ने अपनी आवाज़ से सभी श्रोताओं के दिल में महत्वपूर्ण जगह बना ली थी. 1990 में वह बेहतरीन सिंगर्स में से एक थीं. 27 अक्टूबर 1952 में जन्मीं अनुराधा ने भजन के साथ कई मशहूर गाने भी गाए हैं. आज अपना 66 वां बर्थडे मना रहीं सिंगर ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत फ़िल्म ‘अभिमान’ से की थी. जिसमें उन्होंने जया भादुड़ी के लिए एक श्लोक गाया था. यह श्लोक उन्होंने संगीतकार सचिन देव वर्मन के निर्देशन में गाया था. उन्होंने कई बेहतरीन फिल्मों में गाने गाए हैं. लेकिन उन्हें 90 के दशक में गाए गानों से ख़ास पहचान मिली थी.

courtesy

इसके बाद अनुराधा ने 1974 में अपने पति संगीतकार अरुण पौडवाल के संगीत निर्देशन में ‘भगवान समाए संसार में’ फ़िल्म में मुकेश ओर महेंद्र कपूर के साथ गाया था. बॉलीवुड में एक दौर ऐसा था जब हर दूसरी फिल्म में गायिका अनुराधा पौडवाल के गाने होते थे. उनकी आवाज का जादू ऐसा है कि आज भी लोग अनुराधा की आवाज के दीवाने हैं, हालांकि वो काफी समय से लाइमलाइट से दूर हैं. ऐसा कहा जाता है कि गुलशन कुमार उन्हें दूसरी लता मंगेशकर बनाना चाहते थे.

courtesy

90 के दशक में अनुराधा पौडवाल एक बड़ा नाम बन चुकी थीं. उन्हें ‘आशिकी’, ‘दिल है की मानता नहीं’ और ‘बेटा’ जैसी फिल्मों के लिए लगातार तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड मिले थे. फिल्मों के अलावा टी-सीरीज के साथ अनुराधा ने कई एल्बम में भी काम किया था. अनुराधा ने बॉलीवुड गानों और भजनों के अलावा पंजाबी, बंगाली, मराठी, तमिल, तेलुगू, उड़िया और नेपाली भाषा में भी गाने गाए हैं. उन्हें 1989 में मराठी फिल्म ‘कलट नकलट’ के लिए बेस्ट सिंगर का नेशनल अवार्ड भी जीत चुकी हैं.

courtesy

बता दें कि अनुराधा ने अरुण पौडवाल से 1991 में शादी की थी और उनकी एक बेटी है. अनुराधा की बेटी का नाम कविता पौडवाल है और वह भी एक सिंगर हैं. हालांकि कविता ने एक भी बॉलीवुड फिल्म में गाना नहीं गाया है. लेकिन कविता ने अपनी मां के साथ मिलकर कई बेहतरीन भजन गाए हैं. कविता 1995 से ही भक्ति गीत गा रही हैं.

Published by Yash Sharma on 27 Oct 2018

Related Articles

Latest Articles