इंदौर के पीथमपुर में बनेगा देश का पहला इको फ्रेंडली स्मार्ट इंडस्ट्रीयल पार्क, ग्रीन कांसेप्ट पर होगा विकसित

Get Daily Updates In Email

मध्यप्रदेश में इंदौर के पीथमपुर में देश का पहला सबसे बड़ा इको फ्रेंडली स्मार्ट इंडस्ट्रीयल पार्क बनने जा रहा है. औद्योगिक क्षेत्र विकास निगम द्वारा पीथमपुर में 1200 एकड़ में 250-300 करोड़ की लागत से विकसित किया जाएगा. यह पार्क मौजूदा स्पेशल इकोनॉमिक जोन यानी सेज से अलग होगा. यहां 500 एकड़ में 100 से ज्यादा इंडस्ट्री लगेंगी तो 32 एकड़ क्षेत्र रिहायश के लिए विकसित होगा.

courtesy

बताया जा रहा है यहां पर 100 से ज्यादा इंडस्ट्रीज को जमीन देने की तैयारी है. इससे 10 हजार से अधिक लोगों को रोजगार की सुविधा मिलेगी. एकेवीएन एमडी कुमार पुरुषोत्तम ने बताया कि यह अत्याधुनिक इंडस्ट्रियल सिटी होगी लेकिन साथ ही प्रदूषण रहित भी होगी. वातावरण साफ रखने के लिए यहां डेढ़ लाख पौधे लगाए जाएंगे.

courtesy

विशेष जल प्रदाय योजना के तहत पीथमपुर सिटी और स्मार्ट इंडस्ट्रियल पार्क के लिए अलग से नर्मदा लाइन ली जा रही है. इसके बाद यहां 365 दिन नर्मदा से पानी मिलता रहेगा. यह प्रदेश का पहला पीएसयू इंडस्ट्री पार्क है, जहां कमर्शियल और रेसीडेंशियल प्लॉट होंगे. अस्पताल, स्कूल, छोटा बाजार आदि सभी मूलभूत सुविधाएं भी रहेंगी.

courtesy

बताया जा रहा है कि यहां पर करीब 500 रुपए प्रति वर्गफीट के हिसाब से जमीन आवंटित होगी. हालांकि दाम कुछ माह बाद लागत और जमीन की गाइडलाइन के हिसाब से तय होंगे. यहां 50 एकड़ में आईटी और इंडस्ट्रियल पार्क होगा. सौ एकड़ में से बाकि 50 एकड़ जमीन में से कुछ जमीन आईटी पार्क के लिए रखी जाएगी जिससे इंदौर-पीथमपुर के मुख्य मार्ग पर एक बड़ा आईटी पार्क विकसित किया जा सके. गैर प्रदूषण उद्योगों के लिए भी अलग इंडस्ट्रियल पार्क ग्रीन कॉन्सेप्ट पर विकसित होगा.

courtesy

यहां पर रोड़, सीवरेज, स्ट्रीट लाइट व अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर पर ही सर्वाधिक खर्च किया जाएगा. यहां की मुख्य रोड़ ही 45 मीटर चौड़ी होगी. अन्य सड़कें भी 30 मीटर और 24 मीटर चौड़ी बनेंगी. इसके साथ ही बाउंड्रीवॉल, वाटर ट्रीटमेंट, वाटर सप्लाय, नाले पर ब्रिज बनाने व अन्य कामों पर राशि खर्च की जाएगी. साथ ही यहां पूरी टाउनशिप ग्रीन कॉन्सेप्ट पर विकसित होगी और यहां सघन हरियाली की जाएगी. साथ ही टाउनशिप के बीच से निकलने वाले नाले को विकसित कर एक तालाब का निर्माण किया जाएगा. पार्किंग और ट्रांसपोर्टेशन से लेकर हर तरह की सुविधा यहां विकसित की जाएगी.

Published by Yash Sharma on 14 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles