एंड्राइड फ़ोन की सुरक्षा के लिए 10 महत्वपूर्ण जानकारियां, फ़ोन को हैकर्स से बचाने में मिलेगी मदद

Get Daily Updates In Email

भारत समेत दुनियाभर की अधिकतर जगहों पर एंड्राइड फ़ोन के यूज़र्स हैं. एंड्राइड के इस्तमाल के साथ ही इन पर हैकर्स का भी डर रहता है. डिजिटल इंडिया के दौर में मोबाइल फोन्स से इन्टरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग की संख्या में इजाफा हुआ है. जिसके चलते मोबाइल पासवर्ड और बैंकिंग पासवर्ड के हैक होने का खतरा भी बढ़ा है. इसलिए आइए बताते हैं एंड्रॉइड के 10 सिक्योरिटी फीचर्स के बारे में जिसकी मदद से स्मार्टफोन को हैक होने से बचा सकते हैं.

courtesy

1. पासवर्ड मैनेजर

पासवर्ड मैनेजर के उपयोग से अपने मोबाइल के अंदर छिपे सारे पासवर्ड को एक मास्टर पासवर्ड की मदद से छुपा सकेंगे. इससे किसी और यूज़र्स के द्वारा आप अपने मोबाइल को हैक होने से भी बचा सकते हैं.

courtesy

2. अनऑथराइज्ट ऐप्स

किसी भी अनऑथराइज्ट ऐप्स को कभी मोबाइल में डाउनलोड ना करें. इससे मोबाइल में मौजूद हर निजी जानकारी के लीक होने के खतरा रहता है.

courtesy

3. आसान पासवर्ड

कभी भी अपने मोबाइल में आसान पासवर्ड को नहीं लगाए.  1234, 1111 या 0000 इस तरह के पासवर्ड भूल कर भी न रखें. इससे स्मार्टफोन आसानी से ओपन हो सकता है और हैक किया जा सकता है.

courtesy

4. पब्लिक वाईफाई

कभी भी पब्लिक वाई फाई का ज्यादा उपयोग ना करें. इन पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल आपके अलावा अन्य यूजर्स भी करते हैं. ऐसे में यहां से डाटा चोरी या लीक होने का खतरा ज्यादा होता है.

5. VPN का उपयोग

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क का उपयोग करना सभी यूज़र्स के लिए सही साबित हो सकता है. इसके जरिए डाटा को और सिक्योर करने में मदद मिलती है.

courtesy

6. सिक्योरिटी अपडेट

एंड्रॉइड समय समय पर अपने यूजर्स के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए सिक्योरिटी पैच निकालता है. इन अपडेट्स को कभी इग्नोर न करें और अपने फोन को अपडेट करें.

courtesy

7. एप्लीकेशन

समय समय पर एंड्राइड अपने यूज़र्स को मोबाइल की एप्लीकेशन अपडेट करने की सूचना है. इससे फोन के साथ ही ऐप्स के भी सिक्योरिटी पैच रोलआउट किए जाते हैं.

courtesy

8. टू फैक्टर वेरीफिकेशन

एंड्राइड फ़ोन्स गूगल अकाउंट पर काम करता है जिसके चलते यूज़र्स को तू फैक्टर वेरीफिकेशन तो इनेबल करना चाहिए जिससे डाटा को डबल सिक्योरिटी प्रदान होती है.

courtesy

9. रिमोट लॉक एंड वाइप

कभी किसी यूज़र का फ़ोन चोरी भी हो जाता है तो इस स्थिति में फ़ोन में उपस्थित डाटा चोरी नहीं होगा. इसके लिए आपको फ़ोन में रिमोट लॉक एंड वाइप को इनेबल करना होगा. इससे की यूज़र अपने लैपटॉप से भी गूगल अकाउंट पर मौजूद डाटा डिलीट कर सकता है.

courtesy

10. एसएमएस लिंक 

हमेशा अपने मोबाइल में आए एसएमएस लिंक को ओपन करने से बचना चाहिए. किसी भी लिंक को खोलने से पहले यह चेक कर लें कि लिंक सुरक्षित है. ज्यादातर फर्जी लिंक में आपको कई गलतियां मिल सकती हैं.

Published by Yash Sharma on 17 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles