भारतीय मूल के थॉमस कुरियन बने गूगल क्लाउड के सीईओ, 26 नवम्बर को करेंगे कार्यभार ग्रहण

Get Daily Updates In Email

दुनिया की सबसे बड़ी एंड्राइड डेवलपर कंपनी गूगल में भारतीय मूल के थॉमस कुरियन गूगल क्लाउड के नए सीईओ बनेंगे. कुरियन मौजूदा सीईओ डियान ग्रीन की जगह लेंगे. ग्रीन इस कंपनी से तीन साल के बाद अपना पद छोड़ रही हैं. 63 वर्षीय ग्रीन जनवरी 2019 तक सीईओ के पद पर बनी रहेंगी और कुरियन के साथ मिलकर काम करेंगी. कुरियन 26 नवंबर से आधिकारिक तौर पर गूगल क्लाउड का हिस्सा बनेंगे और जनवरी 2019 से पूरी तरह से काम काज संभालेंगे. कुरियन 22 साल से गूगल कंपनी से जुड़े हुए हैं.

courtesy

कुरियन 13 वर्षों तक 32 देशों के 35 हजार लोगों की सॉफ्टवेयर डिवेलपमेंट टीम का नेतृत्व कर चुके हैं. सुंदर पिचाई और सत्या नाडेला के बाद एक और भारतीय एक दिग्गज प्रोद्योगिकी कंपनी के शीर्ष पद की कमान संभालने वाले हैं. गूगल ने घोषणा की है कि औरेकल कॉरपोरेशन के पूर्व प्रॉडक्ट चीफ थॉमस कुरियन आने वाले साल से गूगल क्लाउड की कमान संभालेंगे. कुरियन बेंगलुरु के रहने वाले हैं. वह गूगल में क्लाउड डिविजन की प्रमुख डायने ग्रीन की जगह लेंगे. ग्रीन ने शुक्रवार को ब्लॉग पोस्ट में यह जानकारी दी.

courtesy

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि, थॉमस के कंपनी में आने को लेकर हम बेहद उत्साहित हैं. उनका प्रॉडक्ट विजन, कस्टमर फोकस और विशेषज्ञता हमारे तेजी से बढ़ते क्लाउड बिजनेस के लिए बेहद लाभकारी होगा. वहीं कुरियन ने कहा कि इस अहम और आशाजनक समय में गूगल क्लाउड की टीम से जुड़कर रोमांचित हूं.

courtesy

इससे पहले भारतीय मूल के सुंदर पिचाई गूगल कंपनी के सीईओ बने थे. गूगल ने अपनी कंपनी का नाम अल्फ़ाबेट में बदल दिया. इसके बाद लेरी पेज ने गूगल खोज नामक कंपनी का सीईओ सुंदर पिचाई को बना दिया और स्वयं अल्फाबेट कंपनी के सीईओ बन गए. सुंदर ने सीईओ पद का कार्यभार 2 अक्टूबर 2015 को अपने हाथों में लिया था.

courtesy

वहीं सबसे बड़ी कंप्यूटर सॉफ्टवेर निर्माता कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने भारतीय मूल के सत्या नडेला को अपनी कंपनी का नया सीईओ बनाया था. 4 फ़रवरी 2014 को इस बात की घोषणा कम्पनी द्वारा की गई थी. फिलहाल वह माइक्रोसॉफ्ट के क्लाउड और एंटरप्राइज ग्रुप के एग्ज़ीक्युटिव वाइस प्रेजिडेंट हैं.

Published by Yash Sharma on 18 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles