रेल्वे स्टेशन पर पटरी के बीच मां की गोद से गिरी बच्ची, ट्रेन निकलने के बाद भी नहीं आई खरोंच

Get Daily Updates In Email

हमारे देश में एक कहावत बड़ी फेमस है. वह कहावत हैं ‘जाको राखे साइयां, मार सके ना कोय’. जी हां! यह कहावत मथुरा रेलवे स्टेशन पर उस वक्त सच होती नजर आई है. जब यहां एक महिला यात्री की गोद से एक साल की बच्ची छूटकर रेलवे ट्रैक पर गिर गई और उस बच्ची को एक खरोंच तक नहीं आई. यह नजारा देख तो पहले लोग घबरा गए थे लेकिन बाद में बच्ची को सही सलामत देख कर सभी के चहरे पर ख़ुशी दिखी.

courtesy

दरअसल यह पूरा मामला हैं यूपी के मथुरा स्टेशन का. मंगलवार को यहां के स्टेशन पर एक चौंकाने वाला वाकया देखने को मिला. बता दें कि,  मथुरा स्टेशन पर ट्रेन से एक महिला उतर रही थी. महिला अपनी गोद में एक छोटी सी बच्ची को लिए हुए थी. लेकिन महिला जब उतर रही थी उसी वक्त उसके हाथ से बच्ची सीधी ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच खाली हिस्से में गिर गई. बच्ची को उठाने की कोशिश की उससे पहले ही ट्रेन ने रफ्तार पकड़ ली थी. जैसे ही ट्रेन निकल गई वैसे ही लोग उस बच्ची को देखने उमड़ पड़े. उधर देखा तो बच्ची पटरी के किनारे आराम से लेटी थी. इसके बाद लोगों ने बच्ची को उठाया.

इसके बाद जिस महिला की ये बच्ची थी उसे ये बच्ची वापस की गई. महिला ने जैसे ही बच्ची को देखा वैसे ही तुरंत उसकी आंखों से खुशी के आसू निकल आए थे. इसके बाद मौके पर पुलिस भी आ गई थी. इस पूरी घटना पर बात करते हुए रेलवे सुरक्षा बल कोतवाली के प्रभारी इंस्पेक्टर चंद्रभूषण प्रसाद ने बताया कि, यह घटना सुबह के दस बजे के आसपास घटी थी.

उन्होंने आगे बताया कि मथुरा के गोविंद नगर थाना क्षेत्र के निवासी सोनू और उनकी पत्नी रानू अपने दो बच्चो के साथ झांसी जा रहे थे. दंपती अपने एक साल की बच्ची साहिबा एवं दो साल की नायरा के साथ निजामुद्दीन से विशाखापट्टनम में झांसी जाने के लिए चढ़े थे. लेकिन जैसे ही ये दम्पति ट्रेन में चढ़ा उसके तुरंत बाद सोनू ने अपना पर्स देखा तो गायब मिला. इसके बाद दोनों ने उतरने का फैसला लिया.  सोनू  बेटी नयारा को लेकर उतर गया था जबकि उसकी वाइफ एक साल की बच्ची साहिबा को लेकर उतर रही थी. तभी अचानक उसके हाथ से बच्ची गिर गई.

Published by Lakhan Sen on 21 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles