सर्दियों में घूमने के लिए हिमाचल और कश्मीर हैं अच्छे ऑप्शंस, आरू वैली में भी मना सकते हैं हॉलिडे

Get Daily Updates In Email

भारत में ऐसी कई जगहें हैं जहां बेमौसम जाना भी काफी अच्छा रहता है. कई जगहों पर जाना बहुत आनंद दिलाता है जिनकी खूबसूरती सर्दियों में और खिल उठती है. तो आज बताते हैं कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में जहां की खूबसूरती बेमौसम में भी देखने लायक होती है.

courtesy

1. आरू वैली, कश्मीर

बात सर्दी की हो और इसमें बर्फ में खेलने की बात न हो यह तो हो ही नहीं सकता. लेकिन इसके लिए यूरोप या विदेशों में जाने की जरूरत नहीं है. कश्मीर में ऐसी कई जगहें हैं जहां फेस्टिवल से लेकर घूमने तक का खूब मौका मिलेगा. पहलगाम में जब बर्फ़बारी होती है तो दुनियाभर से पर्यटक इसका आनंद लेने आते हैं. पहलगाम से सिर्फ 12 किलोमीटर की दूरी पर पाइन फॉरेस्ट के बीचोंबीच एक बहुत खूबसूरत वैली है जिसे आरू वैली कहा जाता है.

ऊंचे-ऊंचे देवदार के पेड़ों के बीच घास के मैदान बर्फ की चादर से ढंक जाते हैं. इस वैली में जम्मू एंड कश्मीर टूरिज्म की खूबसूरत कॉटेज बनी हुई हैं. इन कॉटेज में रहकर छुट्टियों को एंज्वॉय कर सकते हैं. यहां पास के जंगल में फ्रोजन वॉटरफॉल भी देखने को मिलेगा.

courtesy

2. तातापानी, हिमाचल प्रदेश

सर्दियों में हिमाचल प्रदेश का नज़ारा भी काफी खूबसूरत हो जाता है. हिमाचल की राजधानी शिमला से मात्र 56 किमी. और कालका से मात्र 110 किमी. की दूरी पर एक छोटा-सा कस्बा है जिसे तातापानी कहते हैं. यह कस्बा गर्म पानी के स्त्रोत के लिए जाना जाता है. यह जगह अपने मौसम की वजह से उत्तर भारत में वेलनेस हॉलिडे के लिए एक बेहतर विकल्प के रूप में उभरा है.

हॉलिडे के साथ-साथ लोग यहां आयुर्वेदिक उपचार के लिए भी आते हैं. यहां स्नान करके कई बीमारियों से छुटकारा भी पाया जा सकता है. यहां आकर आयुर्वेद और नेचुरोपैथी से खुद को रिलैक्स कर सकते हैं. यहां कई हेल्थ स्पा रिजॉर्ट भी बने हुए हैं.

courtesy

3. तीर्थन वैली, हिमाचल प्रदेश

द ग्रेट हिमालय नेशनल पार्क के आसपास कई खूबसूरत वादियां हैं. जहां रह कर अपनी छुट्टियों को प्राकृतिक सौन्दर्य के साथ बिता सकते हैं. हिमाचल प्रदेश में तीर्थन वैली ट्रेवलिंग के लिए भुत प्रमुख है. यह एक छोटे से कस्बे बंजर के नजदीक तीर्थन नदी के किनारे पर फैली हुई है. यहां रहकर आप हिमाचल की असली खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं.

यहां के स्थानीय लोग कॉटेज बना कर सैलानियों को जंगल के बीच किसी भी बड़े होटल की सुविधाएं उपलब्ध कराते हैं. यहां के हिमाचली कॉटेज को देसी और पारंपरिक तरीके से बनाया गया है. कॉटेज के अलावा यहां कैंप लगाकर रहने की सुविधा भी है. कैंप आधुनिक सुविधाओं वाले हैं. तीर्थन वैली में ट्रैकिंग का भी भरपूर आनंद उठाया जा सकता है.

Published by Yash Sharma on 27 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles