भारतीय शादी में मेहंदी से लेकर हल्दी तक होने वाली रस्मों से जुड़े हुए हैं कई वैज्ञानिक तथ्य

Get Daily Updates In Email

इन दिनों देशभर में शादी की धूमधाम शुरू हो चुकी है. इसके लिए लोग पहले से ही काफी सारी तैयारियां शुरू कर देते हैं. शादी की रस्में भी कुछ दिनों पहले से ही शुरू हो जाती हैं. साथ ही सभी रस्मों को बड़ी प्रसन्नता और नाच-गाने के साथ पूरा किया जाता है. आइए इस खबर के माध्यम से भारतीय शादी में की जाने वाली कुछ महत्वपूर्ण रस्मों और साथ ही उनके कुछ वैज्ञानिक तथ्यों के बारे में भी जानते हैं.

courtesy

मेहंदी रस्म

शादी से पहले दूल्हा-दुल्हन के हाथों में मेहंदी लगाई जाती है. मेहंदी लगाने के पीछे कईं वैज्ञानिक तथ्य है. बताया जाता है कि मेहंदी लगाने से तनाव, सिरदर्द और बुखार जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है.

courtesy

हल्दी रस्म

यह भी यहां की शादियों की प्रमुख रस्मों में से एक है. इसे दूल्हा-दुल्हन दोनों को लगाया जाता है. इससे त्वचा में भी निखार आता है साथ ही बैक्टेरिया और कीटाणु से भी छुटकारा मिलता है. इससे त्वचा पर भी निखार आता है साथ ही यह बहुत से रोगों को दूर करने का भी काम करती है.

courtesy

चूड़ा रस्म

शादी की रस्मों के दौरान दुल्हन के यहां चूड़ा रस्म की जाती है. इसको करने के पीछे वैज्ञानिक मत यह है कि इससे दुल्हन की कलाइयों में एक्युप्रेशर पॉइंट को दबाव मिलता है और जिससे यह स्वस्थ रहने में भी काफी लाभदायक सिद्ध होती है.

courtesy

सिंदूर भरना

शादी की रस्मों में दूल्हा दुल्हन की मांग में सिंदूर भरता है जिसे शादी की रस्मों में काफी अहम माना जाता है. साथ ही यह स्त्री के शादीशुदा होने की भी निशानी होती है. इसमें हल्दी, पारा और कुछ धातु मिले होते हैं जो स्त्री के शरीर को ठंडा रखने में मदद करते हैं.

courtesy

अग्नि के फेरे लेना

अग्नि के फेरे लेकर वर और वधु जीवन भर साथ रहने के वचन लेते हैं. अग्नि को हिन्दू मान्यताओं में बहुत पवित्र भी माना गया है. इससे सारी नकारात्मक ऊर्जाएं दूर रहती हैं और सकरात्मक ऊर्जाएं फैलाती हैं.

Published by Yash Sharma on 29 Nov 2018

Related Articles

Latest Articles